पंचायत सचिव व प्रधान खराब पड़े सोलर लाईटों की सूची शीघ्र दें हिमऊर्जा को : आषुतोश गर्ग

पंचायत सचिव व प्रधान खराब पड़े सोलर लाईटों की सूची शीघ्र दें हिमऊर्जा को : आषुतोश गर्ग

  • जैसे ही सूचना एकत्र होगी, तो हिमऊर्जा चलाएगा खराब संयंत्रों की मुरम्मत के लिए अभियान

शिमला: राज्य सरकार द्वारा नोडल एजेंसी हिमऊर्जा के माध्यम से अनेक सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित किए हैं। यह हिमऊर्जा व उपभोक्ताओं का दायित्व है कि सभी संयंत्रों को चालू हालत में रखा जाए। हिमऊर्जा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आषुतोश गर्ग ने यह जानकारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्यवश जहां ये संयंत्र लगे हैं, उपभोक्ता उनका ठीक से रखरखाव नहीं करते, जिस कारण ये संयंत्र खराब हो गए हैं। उन्होंने कहा कि हिमऊर्जा ने सभी पंचायत सचिवों व प्रधानों को खराब पड़े संयंत्रों की सूची सम्बन्धित जिला के परियोजना अधिकारी, हिमऊर्जा को शीघ्र भेजने को पत्र लिखे हैं।

आषुतोश गर्ग ने बताया कि निदेशक ग्रामीण विकास व पंचायती राज विभाग द्वारा भी खण्ड विकास अधिकारियों को खराब सौर संयंत्रों की सूची हिमऊर्जा को प्रदान करने बारे पत्र लिखा जा रहा है। जैसे ही सूचना का संग्रहण हो जाएगा, हिमऊर्जा द्वारा खराब संयंत्रों की मुरम्मत हेतु एक अभियान चलाया जाएगा, जिसमें मुरम्मत होने वाले संयंत्रों को ठीक किया जाएगा व बेकार पड़े संयंत्रों को नीलाम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खण्ड स्तर पर जागरूकता शिविर लगाया जाएगा, जहां पंचायत के तकनीकी सहायकों व क्षेत्र में बिजली उपकरण मुरम्मत करने वाली दुकान चलाने वालों को सौर संयंत्रों के बारे में तकनीकी जानकारी दी जाएगी। यह कार्य खण्ड विकास अधिकारी व पंचायत प्रधानों के सहयोग चरणबद्ध तरीके से अमल में लाया जाएगा।

उन्होंने समस्त खण्ड विकास अधिकारी व पंचायत प्रधानों से आग्रह किया है कि इस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु सहयोग करें व शीघ्र खराब पड़े संयंत्रों (सोलर लाईटों) की सूची हिमऊर्जा को प्रदान करें।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *