उपायुक्त शिमला ने दिए विभागीय अधिकारियों को स्वास्थ्य, जान एवं माल की सुरक्षा बारे आवश्यक दिशा निर्देश

  • शहर के सभी एम्बुलैंस मार्गो के किनारे खड़ी गाड़ियों को जल्द हटाएं
  • पीने के पानी की समय-समय पर जांच व स्वच्छता बारे दिशा- निर्देश
  • बारिश से सडकों में गिरे पेड़ों को जल्द उठाया जाए

शिमला: दक्षिण पश्चिम मॉनसून 2018 की समीक्षा बैठक की आज उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने अध्यक्षता की। उन्होंने सम्बद्ध विभागीय अधिकारियों को बरसात के मौसम में जिले के सभी नागरिकों के स्वास्थ्य, जान एवं माल की सुरक्षा बारे आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को बारिश से क्षतिग्रस्त हुए एम्बुलैंस सड़कों का ब्योरा जल्द प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा शिमला शहर में बारिश से क्षतिग्रस्त हुई एम्बुलैंस सड़कों की मुरम्मत हेतु धन उपलब्ध करवाया जाएगा।

उन्होंने शिमला शहर के सभी एम्बुलैंस मार्गो के किनारे खड़ी गाड़ियों को जल्द हटाने को कहा ताकि आपातकालीन स्थिति में आवागमन में कोई रूकावट न हो। उन्होंने बारिश से क्षतिग्रस्त राष्ट्रीय राजमार्ग, अन्य सड़कों, डंगों, वृक्षों की वस्तुस्थिति जानी तथा जल्द मुरम्मत के आदेश दिए।

उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग व नगर निगम के अधिकारी शिमला शहर के अवरूद्ध नालों में जल निकासी को सुनिश्चित बनाए रखने के लिए सक्रियता से कार्य करें। उन्होंने नगर निगम द्वारा प्रतिदिन बरसाती नालों की होने वाली सफाई की दैनिक रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने विद्युत विभाग को जिले में विद्युत की आपूर्ति को सुचारू बनाये रखने में अपना सहयोग देने को कहा।

उन्होंने कहा कि सुन्नी में सतलुज के बढ़ते जल स्तर को मध्यनजर रखते हुए जनता की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ की टीम तैनात की गई है। उन्होंने बारिश में पानी में आने वाली गाद को मध्यनजर रखते हुए स्वास्थ्य विभाग से पीने के पानी की समय समय पर जांच व स्वच्छता बारे दिशा- निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बारिश से सडकों में गिरे पेड़ों को जल्द उठाया जाए। उन्होंने गिरने की आशंका वाले पेड़ों की सुरक्षा के लिए भी समय रहते कारगर कदम उठाने के आदेश दिए। उन्होंने सम्बन्धित विभाग को अश्वनी खड्ड में फैंके जा रहे पोलीथीन की छानबीन कर आरोपियों के खिलाफ नियमानुसार जल्द कार्यवाही करने को कहा।

उन्होंने कहा कि सभी जिला अधिकारी जिला प्रशासन से सम्पर्क बनाना सुनिश्चित करें ताकि भारी बारिश से जनता की सुरक्षा के लिए की जाने वाली कार्यवाही तुरन्त अमल में लाई जा सके।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

81  +    =  82