कोरोना : संदिग्ध मरीजों के लिए खड्ड बहुद्देशीय भवन बनेगा क्वारंटीन सेंटर, तीन दिन में होगा तैयार : डीसी संदीप

प्रशिक्षण कार्यक्रमों की लगातार की जाए निगरानी: उपायुक्त संदीप कुमार

  • रोजगार सृजन के क्षेत्र में प्रगति की निगरानी के लिए हो प्रभावी तंत्र : संदीप कुमार
  • जिला प्रशासन के अधिकारी शीघ्र ही निगम के प्रशिक्षण केंद्रों का करेंगे दौरा

धर्मशाला : हिमाचल प्रदेश कौशल विकास निगम द्वारा कांगड़ा जिला में कार्यान्वित किए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की उपायुक्त संदीप कुमार ने सोमवार को समीक्षा करते हुए इन कार्यक्रमों से रोजगार सृजन के क्षेत्र में हुई प्रगति की निगरानी के लिए प्रभावी निगरानी तंत्र विकसित करने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा निगम द्वारा विभिन्न प्रशिक्षणों के लिए निजी सेवा प्रदाताओं की सेवाएं ली जा रही हैं, जरूरी है कि इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों की भी लगातार निगरानी की जाए। उन्होंने सभी हितधारकों से आग्रह किया कि वे कौशल विकास कार्यक्रमों को आपस में जोड़ने का प्रयास करें ताकि इन कार्यक्रमों का निर्धारित लक्ष्य प्राप्त किया जा सके।

संदीप कुमार ने कहा कि कौशल विकास कार्यक्रमों को क्षेत्र विशेष की मांग और आवश्यकता के अनुरूप चलाया जाए ताकि पात्र लोग इनसे अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकें।

उन्होंने कहा कि जो भी लोग कौशल विकास कार्यक्रमों का लाभ लेना चाहते हैं आवश्यक है कि वे कौशल विकास निगम से आसानी से संपर्क कर सकें और निगम यह सुनिश्चित बनाए कि उनकी जिज्ञासों का समुचित समाधान किया जाए।

संदीप कुमार ने कहा कि जिला प्रशासन के अधिकारी शीघ्र ही निगम के प्रशिक्षण केंद्रों का दौरा करेंगे और इस बारे तैयार रिपोर्ट को निगम के साथ सांझा किया जाएगा, जिससे व्यवस्था को और बेहतर करने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कौशल विकास निगम को काय्रक्रमों को लागू करने में प्रशासन की ओर से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया। उन्होंने निगम को धर्मशाला में कार्यालय स्थापित करने को कहा और इसे लेकर अतिरिक्त उपायुक्त को जिलाधीश कार्यालय भवन में निगम के लिए व्यवस्था करवाने के निर्देश दिए।

बैठक में कौशल विकास निगम के जिला समन्वयक सुधीर भाटिया ने निगम द्वारा जिला में चलाए जा रहे कार्यक्रमों के बारे में अवगत करवाया । उन्होंने बताया कि धर्मशाला और नरपुर कॉलेज में वोकेशलन कोर्स आरंभ किए गए हैं। इसके तहत हॉस्पीटैलिटी एवं रिलेट मनैजमेंट के कोर्स में विद्यार्थी एक साल पूरा कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि निगम प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत भी जिला में विभिन्न स्थलों पर बेरोजगार युवाओं को फैशन डिजाइनिंग, स्वास्थ्य देखभाल, निर्माण एवं रिलेट इत्यादि के क्षेत्र में प्रशिक्षण दे रहा है। उन्होंने बताया कि धर्मशाला के सिद्धबाड़ी में सिटी आजीविका केद्र बनाया जा रहा है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *