प्रदेश में रोपे गए तीन दिनों में 15 लाख पौधे : वनमंत्री

प्रदेश में रोपे गए तीन दिनों में 15 लाख पौधे : वनमंत्री

शिमला: वन मंत्री गोबिंद सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में पहली बार तीन दिन लगातार पौधरोपण अभियान के दौरान 15 लाख पौधे से भी अधिक पौधों का रोपण किया गया। उन्होंने कहा कि गत 12 से 14 जुलाई को प्रदेशभर में पौधरोपण का कार्य किया गया। वन विभाग के माध्यम से चलाये गए इस अभियान में समाज के हर वर्ग ने अभियान में भाग लिया। लगभग 80,000 से भी अधिक लोगों ने इस अभियान में भाग लिया। स्कूली बच्चों से लेकर महिलाओं, बजुर्गों व जवानों ने बढ़-चढ़ कर इस अभियान में हिस्सा लिया। उत्तर में राज्य की जम्मू-कश्मीर सीमा से लेकर दक्षिण में यमुना तट तक, पूर्व में किन्नौर से लेकर पश्चिम में पंजाब की सीमा तक हर क्षेत्र में पौधरोपण का कार्य पूरे जोश के साथ किया गया।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 10 जुलाई 2018 को राजगढ़ वन मंडल से राज्य स्तरीय वन महोत्सव का शुभारम्भ किया था।  तीन दिनों के दौरान  समूचे प्रदेश में 15 लाख पौधे रोपित करने का लक्ष्य रखा गया था। प्रदेश के हर वर्ग को इस अभियान में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया। राज्यपाल आर्चाय देवव्रत ने भी 13 जुलाई 2018 को शिमला जिला के नेहरा में पौधरोपण कर अभियान में भाग लिया।  वन मंत्री ने व्यक्तिगत तौर पर सभी विधानसभा सदस्यों को पौधरोपण में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। परिणामस्वरूप वन विभाग ने इस महत्वपूर्ण लक्ष्य को पूरा कर लिया।

वनमंत्री ने कहा कि पौधरोपण का कार्य अभी भी जारी है और लक्ष्य से दो लाख अधिक तक पौधों का रोपण कार्य पूरा होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि मंडी वन वृत्त ने सबसे ज्यादा 2.75 लाख पौधे रोपित किये। प्रदेश में कुल 13 वन वृत्तों के 41 वन मंडलों में 600 स्थानों पर पौधरोपण किया गया। चम्बा वन मंडल 99,281 पौधों का रोपण कर अभियान में अव्बल स्थान पर बना हुआ है तथा आनी व रामपुर वन मंडल ने 81,369 व 80,059 पौधे लगा कर दूसरे एवं तीसरे स्थान पर बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि पौधरोपण में सबसे अधिक देवदार के छः लाख से भी अधिक पौधे रोपित किये गए। इसके अतिरिक्त चौड़ी पत्ती, अन्य शंकुधारी पौधों का भी रोपण किया गया।

गौरतलब है कि इस पौधरोपण अभियान का ऑनलाईन निगरानी की गई। सभी पौधरोपण क्षेत्रों में लगाए गए पौधों का ब्यौरा मोबाइल ऐप द्वारा सॉफ्टवेयर में भरने के लिए एक अधिकारी को अधिकृत किया किया गया था। पौधरोपण की प्रगति को सार्वजनिक तौर पर देखा गया। इसके अतिरिक्त वन विभाग के मुख्यालय में भी इसकी निगरानी की गई।

वृतवार पौधरोपण का ब्यौरा देते हुए वनमंत्री ने बताया कि आज सांय चार बजे तक चम्बा में 207961, धर्मशाला में 117271, हमीरपुर में 120931, बिलासपुर में 18910, मंडी में 275570, कुल्लू में 168180, रामपुर में 234723, शिमला में 127338, सोलनमें 57087, नाहन में 153051, वन्य प्राणी (उत्तर)में 3400, वन्य प्राणी (दक्षिण) में 6600 तथा जी.एच.एन.पी. में 14905 पौधों का रोपण कार्य कर लिया गया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *