शिमला : पर्यटन की दृष्टि से विकसित होगा चौपाल : जय राम ठाकुर

शिमला : पर्यटन की दृष्टि से विकसित होगा चौपाल : जय राम ठाकुर

  • चौपाल में खोला जाएगा मुख्यमंत्री आदर्श विद्यालय
  • नागरिक अस्पताल के बिस्तरों की क्षमता 50 से 100 करने की घोषणा

शिमला: शिमला जिला के चौपाल क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा तथा केन्द्र सरकार से इस क्षेत्र के लिए पर्यटन परियोजनाएं प्राप्त करने के प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला जिला के चौपाल में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए यह बात कही । उन्होंने कहा कि चौपाल विधासभा क्षेत्र के विकास को अतिरिक्त प्राथमिकता दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास व कल्याण के लिए वचनबद्ध है और छः महीनों कार्यकाल के दौरान उन्होंने 49 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया है। उन्होंने कहा कि वह स्वयं किसान परिवार से सम्बंध रखते हैं  और आम जन-मानस की विकास आवश्यकताओं से भलीभांति परिचित हैं।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने राज्य को पर्यटन विकास के लिए 1900 करोड़ रुपये स्वीकृत किए है और पहली बार प्रदेश सरकार ने पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए 50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

मुख्यमंत्री ने डिग्री कॉलेज चौपाल के लिए 1.25 करोड़ रुपये, आईटीआई चौपाल में तीन नए पाठ्यक्रम शुरू करने तथा नागरिक अस्पताल चौपाल के बिस्तरों की क्षमता 50 से 100 करने की घोषणा की। उन्होंने चौपाल में मुख्यमंत्री आदर्श विद्यालय खोलने की भी घोषणा की।

जय राम ठाकुर ने क्रमशः 62.30, 48 लाख, 146 लाख व 103 लाख रुपये की लागत से निर्मित चौपाल में एसडीपीओ भवन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सराहां स्तर-1 के भवन, क्यारटु नाला से कफोरना बाम्टा सड़क और वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौपाल के विज्ञान भवन के लोकार्पण किए।

मुख्यमंत्री ने सीआरएफ के तहत 10 करोड़ रुपये की लागत से सैंज-चौपाल, नेरवा-फेडज़ सड़क को चौड़ा करने व सुदृढ़ करने की आधारशिला रखीं। उन्होंने 529 लाख रुपये की लागत से चौपाल में बनने वाले आजीविका केन्द्र व उत्पादन केन्द्र, 6.45 करोड़ रुपये की लागत से रीउणी (साजनाल) से खांगना सड़क की मेटलिंग व टारिंग, 3.49 करोड़ रुपये की लागत से मड़ोग से दशोली सड़क की मेटलिंग व टारिंग की आधारशिलाएं रखीं। उन्होंन मड़ोग-मातल सड़क पर 195.30 लाख रुपये की लागत से लोहाणा खड्ड पर निर्मित होने वाले 19 मीटर लम्बे आरसीसी टी-बीम पुल, 70 लाख रुपये की लागत से केलवी से लोहाणा सड़क की मेटलिंग व टारिंग, 408.38 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सराहां की विज्ञान प्रयोगशाला तथा 120.19 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धबास के भवन की भी आधारशिलाएं रखीं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *