खाली पेट लहसुन खाने के फायदे...

खाली पेट लहसुन खाने के फायदे…

  • खाली पेट लहसुन खाने से बीमारी होने का खतरा रहता है कम
  • कई हानिकारक बीमारियों से बचाव करता है लहसुन का सेवन
  • कई प्रकार की बीमारियों को रोकने में कारगर लहसुन (Garlic)

लहसुन (Garlic) कई प्रकार की बीमारियों को रोकने में काफी कारगर होता है। लहसुन को औषधीय रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। खाली पेट लहसुन खाने से ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है और इससे दिल संबंधी बीमारी होने का खतरा कम रहता है। लहसुन कोलेस्ट्रॉल की समस्या के लिए फायदेमंद रहता है। लहसुन का प्रयोग मसाले के रूप में किया जाता है। लहसुन में एलियम नामक एंटीबायोटिक होता है जो बहुत से रोगों का बचाव करने में लाभदायक है। नियमित रूप से लहसुन खाने से हाई व लॉ ब्लडप्रेशर की बीमारी नहीं होती। इसका प्रयोग एसिडिटी की समस्‍या में बहुत ही लाभदायक सिद्ध होता है।

लहसुन खाने के फायदे

  • शरीर में कोलेस्ट्रोल की समस्या उत्पन्न हो गई है। अगर आप खाली पेट इसके एक या दो कलि का सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर में कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियमित बनाकर रखता है।
  • लहसुन में एंटीबैक्टीरियल एवं दर्दनिवारक गुण पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर में होने वाले दर्द से राहत दिलाता है। अगर आप सुबह खाली पेट इसका सेवन करते है तो आप जोड़ों एवं दांतों के दर्द से बचे रहेंगे।
  • पेट के साफ़ नहीं होने से पेट में कई प्रकार की समस्या होती है। अगर आप लहसुन का सेवन सुबह खाली पेट करते हैं तो इससे आपका पेट साफ़ रहेगा जिससे आपको कभी कब्ज जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • लहसुन खाने से पेट संबंधी समस्याएं नहीं होती है। इससे पेट में मौजूद बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं।
  • अगर ठंड के दिनों में नसों में झनझनाहट है तो लहसुन का सेवन फायदेमंद होगा।
  • अगर आप रोजाना खाली पेट लहसुन का सेवन करें तो इससे शरीर में खून का संचार अच्छा होगा। शरीर में खून का संचार अच्छा होने के कारण हमारा हृदय स्वस्थ बना रहता है और हृदय सम्बंधित समस्या से बचाव होगा।
  • अगर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो खाली पेट लहसुन खाना फायदेमंद होता है।
  • अगर आप रोजाना खाली पेट लहसुन का सेवन करते हैं तो इससे हमारी त्वचा मुलायम एवं चमकदार होती है।
  • खाली पेट सेवन करने से लहसुन के गुण बढ़ जाते हैं। इसे एक औषधि के रूप में भी जाना जाता है।
  • लहसुन के सेवन से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इससे शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है।
  • लहसुन अच्‍छे पाचन और भूख को बढ़ाने में भी मदद करता है। लहसुन के सेवन से पेट के तनाव को नियंत्रित करने में मदद मिलती है और इस तरह से घबराहट के कारण शरीर में बार-बार पैदा होने वाले एसिड का उत्‍पादन बंद हो जाता है।
  • लहसुन उच्‍च रक्‍तचाप के लक्षणों से वास्‍तव में आराम पहुंचाता है। यह न केवल रक्‍त परिसंचरण को नियंत्रित करता है बल्कि विभिन्न प्रकार की हृदय संबंधी समस्याओं से भी बचाता है और इससे आपके लीवर और ब्‍लैडर के सभी कार्य भी ठीक से होते हैं।
  • लहसुन पेट की समस्‍याओं जैसे डायरिया के इलाज के लिए कारगर होता है। साथ ही यह तंत्रिका की समस्‍याओं के लिए भी अद्भुत उपाय है, तब अगर लहसुन का सेवन खाली पेट किया जाये।
  • अगर आपको एलर्जी की समस्‍या है तो दो महत्‍वपूर्ण चीजों का ध्‍यान रखना होगा, एक तो इसका सेवन कच्‍चा न करें। दूसरा किसी भी प्रकार की त्‍वचा संबंधी समस्‍या, शरीर का उच्‍च तापमान और सिर दर्द होने पर इसका सेवन बंद कर दें।

    खाली पेट लहसुन खाने के फायदे...

    खाली पेट लहसुन खाने के फायदे…

  • लहसुन डिटॉक्सीफिकेशन गुणों के कारण वैकल्पिक चिकित्सा में सबसे कुशल खाद्य पदार्थों में से एक माना जाता है। लहसुन इतना शक्तिशाली होता है कि यह परजीवी और कीड़े से शरीर को साफ करता है और मधुमेह, अवसाद, और यहां तक कि कुछ प्रकार के कैंसर जैसी बीमारियों से भी बचाता है।
  • लहसुन दुनिया के हर हिस्से में अपने स्वास्थ्य लाभ के लिए लोकप्रिय है। इसी मुख्‍य कारण से वर्षों से लोग इसे एक औषधि के रूप में जानते हैं।
  • कुछ अध्ययनों के अनुसार एचआईवी/एड्स के लिए दवा लेने वाले रोगियों के लिए लहसुन का सेवन कभी-कभी खतरनाक भी हो सकता है। इसलिए इस विशेष स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के होने पर बहुत सावधान रहना चाहिए।
  • दांत के दर्द में लहसुन का सेवन फायदेमंद होता है। यदि कीड़ा लगने से दांत में दर्द हो तो आप लहसुन के टुकड़ों को गर्म करें और उन टुकड़ों को दर्द वाले दांत पर रखकर कुछ देर तक दबाएं। ऐसा करने से दांत का दर्द ठीक हो जाता है।
  • फ्लू यानी इन्फलुएन्जा में सुबह उठकर गर्म पानी के साथ लहसुन और प्याज का रस पीने से फ्लू से निजात मिलता है।
  • लहसुन श्वसन तंत्र के लिए अच्छा होता है: यह टीबी, दमा, निमोनिया, सर्दी, ब्रोंकाइटिस, पुरानी ब्रोन्कियल सर्दी, फेफड़ों में संक्रमण और खांसी की रोकथाम और इलाज के लिए अच्‍छा होता है।
  • ट्यूबरक्लोसिस की समस्‍या होने पर सुबह खाली पेट लहसुन खाना बहुत फायदेमंद होता है।
  • टीबी और खांसी जैसी बीमारियों को दूर करने में लहसुन लाभकारी है। लहसुन के रस की बूंदों को रूई में भिगोकर सूंघने से सर्दी ठीक हो जाती है।
  • अगर जोड़ों में दर्द और गठिया के कारण होने वाली सूजन को दूर करना चाहते हैं, तो अपने रोजाना के आहार में लहसुन शामिल करें। जल्दी लाभ पाने के लिए खाली पेट कच्ची लहसुन का सेवन करें।
  • लहसुन पूरी तरह से एंटीबायोटिक है। इसलिए फोड़े होने पर लहसुन को पीसकर उसकी पट्टी बांधने से फोड़े मिट जाते हैं।
  • लहसुन के नियमित सेवन करने से आपको कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ मिलते हैं। इनकी हीलिंग गुणों को नियमित इस्‍तेमाल करने से कुछ ही दिनों में स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार देखने लगेगें।
  • सुरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने और शरीर की इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए रोजाना खाली पेट कच्ची लहसुन का सेवन करे।
  • ल‍हसुन खाने से बाल झड़ने बन्द हो जाते हैं। जिन लोगों को भूख नहीं लगती उनको ल‍हसुन का सेवन करना चाहिए। ल‍हसुन का सेवन करने से भूख खुलकर लगती है और पाचन क्रिया भी सही तरीके से होती है।
  • शहद और लहसुन के मिश्रण को खाने से ये शरीर में जमे चर्बी को कम करने में सहायक होता है।
  • अधिक सर्दी और ज़ुकाम होने पर लहसुन की कली को सरसों तेल में अच्छी तरह जलाकर उसकी मालिश करने पर राहत मिलती है।
  • लहसुन का सेवन हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। गठिया से पीड़ित व्यक्ति को अपने खान-पान में लहसुन अवश्य शामिल करना चाहिए।
  • लहसुन को भूनकर खाने पर यह शरीर के अंदर जाकर कैंसर की कोशिकाओं को समाप्त कर देता है।
  • कीड़े-मकोड़े के काटने पर यदि उस जगह पर कच्चे लहसुन की कली को रगड़ दिया जाए तो दर्द से छुटकारा मिलता है और किसी तरह विष होने पर वह भी निकल जाता है।

लहसुन के नुकसान

  • जहाँ लहसुन के अनेक फायदे हैं वहीं यदि इसे ठीक तरीके से और सही मात्रा में न खाया जाए तो अमृत-सा कार्य करने वाला यह लहसुन हमें क्षति भी पहुंचा सकता है।
  • लहसुन की तासीर गर्म होती है। इसलिए गर्भावस्था के समय लहसुन का सेवन न करें।
  • सर्जरी के बाद कभी भी लहसुन का सेवन किसी भी रूप में नहीं करना चाहिए क्योंकि यह रक्तप्रवाह को और अधिक बढ़ा देता है जिससे रक्तस्त्राव की संभावना बढ़ जाती है।
  • जिन लोगों को पेट या पाचन से जुड़ी बीमारियां होती हैं, उन लोगों को डॉक्टर की सलाह लेकर लहसुन का सेवन करना चाहिए।
  • जिन लोगों का लीवर कमजोर होता है या लीवर संबंधी कोई भी बीमारी होती है उन्हें कभी भी खाली पेट लहसुन नहीं लेना चाहिए चाहिए।
  • यदि किसी को पाचन संबंधी समस्या हो तो उसे लहसुन का सेवन सोच समझकर करना चाहिए क्योंकि यह गैस्टरोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में जलन पैदा करता है जिससे समस्या और गंभीर हो जाती है।
  • निम्न रक्तचाप होने पर कच्चा लहसुन बिलकुल नहीं खाना चाहिए क्योंकि कच्चे लहसुन के सेवन से रक्तचाप और कम हो जाता है।
  • लहसुन के पेस्ट का इस्तेमाल कभी भी चेहरे पर नहीं करना चाहिए। चेहरे पर लगाने से इससे जलन पैदा होती है जो त्वचा को नुकसान पपहुंचाता है।
  • यदि होमियोपैथी दवा ले रहे हैं तो लहसुन से परहेज करना चाहिए। होमियोपैथी दवा लेने वाले लोगों को डॉक्टर की तरफ से लहसुन खाने की बिलकुल मनाही होती है। क्योंकि इसकी गरमाहट होमियोपैथी दवा के असर को कम कर देता है।
  • खाली पेट बहुत अधिक लहसुन खाने पर स्वस्थ व्यक्ति को भी दिल का दौरा पड़ने की संभावना बनी रहती है।
  • बच्चों को लहसुन बहुत अधिक न खिलाएं। तासीर गर्म होने की वजह से बच्चों को पेट संबंधी बीमारी हो सकती हैं।
  • जिन लोगों को थायराइड हो, उनके लिए लहसुन बहुत ही हानिकारक है। थायराइड वाले व्यक्तियों को कच्चा लहसुन तो बिलकुल ही नहीं खाना चाहिए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *