ताज़ा समाचार

आशा वर्कर्स के मानदेय में वृद्धि

आशा वर्कर्स के मानदेय में वृद्धि

  • स्वास्थ्य कार्यक्रमों को लोगों तक पहुंचाने में आशा कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका
  • प्रदेश सरकार ने आशा कार्यकर्ताओं के मानदेय को 1000 से बढ़ाकर किया 1250

शिमला: प्रदेश सरकार ने आशा कार्यकर्ताओं का वेतन बढ़ा दिया है।  स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने कहा कि वर्तमान सरकार ने न केवल आशा कार्यकर्ताओं को प्रदेश बजट से एक हजार रुपये का अतिरिक्त प्रोत्साहन सुनिश्चित बनाया, बल्कि इस राशि को एक हजार रुपये से बढ़ाकर 1250 रुपये किया है।

विपिन परमार ने कहा कि प्रदेश में घर-द्वार पर गुणात्मक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने में वर्तमान में 7829 आशा कार्यकर्ता अपना योगदान दे रही हैं। सरकार द्वारा आशा कार्यकर्ताओं को आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है ताकि वे प्रदेश के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर सकें। आशा कार्यकर्ता प्रजनन एवं बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम जिनमें किशोर स्वास्थ्य, गैर संक्रमणीय रोग तथा रोग नियंत्रण कार्यक्रमों को लोगों तक पहुंचाने में अपना विशेष योगदान दे रही हैं।
उन्होंने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं को भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के माध्यम से कार्य निष्पादन पर मानदेय प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार द्वारा हालांकि आशा कार्यकर्ताओं को एक हजार रुपये मानदेय देने की घोषणा की गई थी, परन्तु इस पर अमलीजामा नहीं पहनाया गया, परन्तु वर्तमान सरकार ने न केवल आशा कार्यकर्ताओं को प्रदेश बजट से एक हजार रुपये का अतिरिक्त प्रोत्साहन सुनिश्चित बनाया बल्कि इस राशि को एक हजार रुपये से बढ़ाकर 1250 रुपये किया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *