पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप की मेजबानी के लिए हिमाचल तैयारः सुधीर शर्मा

पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप की मेजबानी के लिए हिमाचल तैयारः सुधीर शर्मा

  • पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप की मेजबानी के लिए हिमाचल तैयारः सुधीर शर्मा
  • देश में पहली बार हो रही है पैरा ग्लाइडिंग
  • पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप कांगड़ा घाटी के बीड़-बिलिंग में
  • प्रतियोगिता की मेजबानी मिलना प्रदेश के लिए एक बड़ी उपलब्धि
  • पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप 23 अक्तूबर से 31 अक्तूबर के मध्य आयोजन
  • प्रतियोगिता में 50 से अधिक देशों से प्रतिभागियों के आने की उम्मीद
  • 47 देशों के प्रतिभागी पहले ही प्रतियोगिता में भाग लेने की भर चुके हैं हामी
  • प्रतियोगिता प्रदेश में खेलों और पर्यटन को बढ़ावा देने में होगी सहायक सिद्ध

शिमला: हिमाचल प्रदेश में पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप की मेजबानी के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। भारत में पहली बार हो रहे पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप का, इस वर्ष कांगड़ा घाटी के बीड़-बिलिंग में 23 अक्तूबर से 31 अक्तूबर के मध्य आयोजन किया जा रहा है।

शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा, जो बिलिंग पैरा ग्लाइडिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष भी हैं, आज विश्व कप की तैयारियों को लेकर पर्यटन एवं अन्य सम्बधित विभागों के साथ आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। बैठक में बीड़ पैरा ग्लाइडिंग एसोसिएशन के सदस्य भी उपस्थित रहे। सुधीर शर्मा ने कहा कि प्रतियोगिता के लिए अन्तरराष्ट्रीय स्तर की अधोसंरचना विकसित करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ‘टेक ऑफ’ स्थल को विकसित करने का कार्य लगभग अंतिम चरण में है और लोक निर्माण विभाग को पैरा ग्लाइडिंग स्थल की ओर जाने वाले मार्गों और रख-रखाव के निर्देशों के अतिरिक्त स्ट्रीट लाईटें लगाने के लिए कहा गया है।

मंत्री ने कहा कि प्रतियोगिता में 50 से अधिक देशों से प्रतिभागियों के आने की उम्मीद है और 47 देशों के प्रतिभागी पहले ही प्रतियोगिता में भाग लेने की हामी भर चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रतियोगिता प्रदेश में खेलों और पर्यटन को बढ़ावा देने में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि मुख्य प्रतियोगिता के उपरांत नवम्बर माह में एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा।

शर्मा ने कहा कि पैरा ग्लाइडिंग प्री- विश्व कप की सफल मेजबानी के उपरांत पैरा ग्लाइडिंग विश्व कप एसोसियेशन, फ्रांस ने प्रदेश को विश्व कप प्रतियोगिता की मेजबानी का अवसर दिया है। उन्होंने कहा कि देश में पहली बार हो रही पैरा ग्लाइडिंग प्रतियोगिता की मेजबानी मिलना प्रदेश के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में तीन बार पैरा ग्लाइडिंग प्री- विश्व कप आयोजित किए जा चुके हैं और वर्ष 2013 में प्रदेश ने विश्व कप प्रतियोगिता के आयोजन के लिए प्रस्ताव दिया था।

उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में भाग ले रहे अन्तरराष्ट्रीय प्रतिभागी, पॉयलट तथा अन्य लोग इस दौरान कांगड़ा घाटी के नैसर्गिक सौंदर्य का अवलोकन करेंगे, जिससे प्रदेश में खेलों के साथ-साथ पर्यटन गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा। सुधीर शर्मा ने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान अतिरिक्त आकर्षण के लिए एक्रो शो और हॉट बैलूनिंग जैसी विभिन्न प्रकार की गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान पॉयलटों की सुरक्षा सुनिश्चित बनाने के लिए लाईव ट्रैकिंग प्रणाली सुविधा आरम्भ की जाएगी। यह सुविधा किसी तरह की आपातकालीन स्थिति में बचाव कार्यों में भी मददगार होगी।

उन्होंने टेक ऑफ और लैंडिंग साईट के नजदीक निर्माण गतिविधियां रोकने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मण्डी से शाहपुर जोन को गैर उड़ान क्षेत्र घोषित करने के लिए सम्बन्धित अधिकारियों से मामला उठाया जाएगा। बैठक में पर्यटन विभाग के निदेशक मोहन चौहान सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *