पांचवी कक्षा तक की पुस्तकों का प्रकाशन नए पाठ्यक्रम के अनुरूप

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड

शिमला: हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने शैक्षणिक सत्र 2015-16 के लिए तीसरी से पांचवीं कक्षा की पाठ्य पुस्तकों का मुद्रण नए पाठ्यक्रम के अनुरूप किया गया है। कुछ पुस्तकों में मानचित्र सम्मिलित करने तथा इनका सत्यापन करवाने के लिए भारतीय सर्वेक्षण कार्यालय देहरादून में भेजे जाने के कारण प्रकाशन की प्रक्रिया जारी है।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के एक प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड कि प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा पुस्तकों के मुद्रण के लिये कागज गुणवत्ता के निर्धारित मानकों (आई.एस. 1848-2007) के अनुसार नियन्त्रक, मुद्रण एवं लेखन सामग्री विभाग के माध्यम से क्रय किया जा रहा है। बोर्ड द्वारा पाठ्य पुस्तकों में 80 जीएसएम क्रीम वूव वाटर मार्क पेपर का इस्तेमाल किया जा रहा है तथा वर्षों से उपयोग में लाए जा रहे इस कागज की गुणवत्ता निर्धारित मानकों पर खरा उतर रही है। उन्होंने कहा कि पुस्तकों के मुद्रण पर नियमित निगरानी के लिये बोर्ड ने प्रकाशन समिति का गठन किया है। मुद्रण में किसी प्रकार की कमी की रिपोर्ट पर बोर्ड मुद्रक पर आर्थिक दण्ड लगा सकता है अथवा मुद्रण कार्य से वंचित कर सकता है।

प्रवक्ता ने कहा कि वर्ष 2015 में मुद्रित की गई पाठ्य पुस्तकों को पहले ही बोर्ड के समस्त पुस्तक भण्डारों में विक्री हेतु उपलब्ध करवाया जा चुका है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *