DSCN0149

प्रत्येक जिले में रेडक्रास भवन के निर्माण पर विचार : कौल सिंह ठाकुर

  • उपायुक्तों को भूमि तलाशने के निर्देश
  • सरकार रक्त पृथक्करण इकाई स्थापित करने पर भी कर रही विचार
DSCN0144

स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर हिमाचल प्रदेश रेडक्रास समिति की प्रबंध समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए

स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के प्रत्येक जिले में रेडक्रास भवनों के निर्माण पर विचार कर रही है। उन्होंने इस संदर्भ में उपायुक्तों को उपयुक्त भूमि तलाशने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर जिले में रक्त पृथक्करण इकाई स्थापित करने पर भी विचार कर रही है।कौल सिंह ठाकुर जो राज्य रेडक्रास प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी हैं, आज यहां हिमाचल प्रदेश रेडक्रास समिति की प्रबंध समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे। बैठक में राज्य रेडक्रास सोसाइटी के वित्तीय वर्ष 2015-16 के लिए 62 लाख 94 हज़ार 100 रुपये के बज़ट का अनुमोदन किया गया। स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य रेडक्रास समिति द्वारा आयोजित गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि समिति गरीब और जरूरतमंद लोगों की सेवा करके मानव कल्याण की दिशा में बेहतरीन कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि समिति की बैठक नियमित तौर पर आयोजित की जानी चाहिए, ताकि पिछले कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ भावी योजनाओं पर भी विचार किया जा सके। इसके दृष्टिगत उन्होंने समिति की अनिवार्य रूप से सालान बैठक बुलाना सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए।

रेडक्रास समितियों में तैनात कर्मियों के नियमितिकरण का जिक्र करते हुए ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार 8 वर्ष से अधिक समय से समिति को अपनी सेवाएं दे रहे कर्मियों को स्वास्थ्य विभाग में रिक्त पदों पर तैनात करने पर विचार कर रही है। इसके तहत इन कर्मियों को रोगी कल्याण समितियों के अंतर्गत लाने के उपरांत अनुबंध सेवाओं में लाकर नियमित करने पर विचार किया जाएगा। ठाकुर ने जिला स्तरीय रेडक्रास समिति में मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को बतौर सचिव तैनात करने और सहायक आयुक्त को कोषाध्यक्ष बनाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने राज्य स्तर पर रेडक्रास की आजीवन सदस्यता अभियान को पुनः आरंभ करने के निर्देश भी दिए। बैठक में आजीवन सदस्यता के लिए शुल्क को 1000 रुपये से बढ़ाकर 2000 रुपये करने पर भी सहमति बनी।

स्वास्थ्य मंत्री ने सभी उपायुक्तों से ज़िलों में अधिक से अधिक लोगों को रेडक्रास गतिविधियों से जोड़ने एवं आजीवन सदस्य बनाने के अभियान को गति देने का आग्रह किया। उन्होंने उपायुक्तों से अपने जिलों में हर वर्ष रेडक्रास मेले आयोजित करने एवं समिति की आमदनी बढ़ाने के लिए और अधिक प्रयास करने का आग्रह भी किया। स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य रेडक्रास को प्रशासनिक व्यय के लिए प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये प्रदान करना सुनिश्चित बनाने के संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार रेडक्रास भवनों पर गृहकर लगाने के पक्ष में नहीं है। उन्होंने इसमें छूट प्रदान करने के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए, ताकि इसे मंत्रीमण्डल की बैठक में लाया जा सके। उन्होंने कहा कि समिति द्वारा खरीदे जाने वाले उपकरणों पर मूल्यवर्धित कर में छूट के लिए आबकारी एवं कराधान विभाग से मामला उठाया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के ग्रामीण एवं दूर दराज क्षेत्रों में लोगों को आधुनिक एवं गुणात्मक चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिशु लिंगानुपात में और बेहतर सुधार के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा बेटियों के जन्म के उपरांत परिवार नियोजन अपनाने वाले परिवारों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि में व्यापक वृद्धि की गई है। बैठक में चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्यों द्वारा उमा बाल्दी, सोनिया चौहान और जोगेश कौर को राज्य रेडक्रास कार्यकारिणी में शामिल करने का निर्णय लिया गया। बैठक का संचालन राज्यपाल के सचिव एवं राज्य रेडक्रास सोसाइटी के महासचिव संजय गुप्ता ने किया। बैठक में सभी जिलों के उपायुक्त अथवा उनके प्रतिनिधि, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, गैर-सरकारी सदस्यों सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *