प्रदेश में शीघ्र स्थापित होगी मेडिकल यूनिवर्सिटी, नर्सों के भरे जाएंगे करीब एक हजार पद : सीएम

प्रदेश में शीघ्र स्थापित होगी मेडिकल यूनिवर्सिटी, नर्सों के भरे जाएंगे करीब एक हजार पद : सीएम

  • प्रदेश में शीघ्र स्थापित होगी मेडिकल यूनिवर्सिटी, नर्सों के प्राथमिकता के आधार पर जाएंगे भरे करीब 1000 पद : सीएम

शिमला: मुख्यमंत्री अन्तरराष्ट्रीय नर्सिंग सप्ताह के अवसर पर ट्रेंड नर्सिज एसोशिएसन ऑफ इण्डिया की हिमाचल इकाई द्वारा आज यहां इन्दिरा गांधी मेडिकल कॉलेज में आयोजित समारोह के दौरान सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के सभी छः मेडिकल कॉलेजों के समुचित प्रबन्धन के लिए शीघ्र ही एक मेडिकल यूनिवर्सिटी स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि नर्सों के लगभग 1000 पद प्राथमिकता के आधार पर भरे जाएंगे ताकि राज्य में स्वास्थ्य संस्थानों को सुदृढ़ किया जा सके। उन्होंने कहा कि फ्लोरेंस नाइटेंगेल स्नेह और निस्वार्थ सेवा भावना का प्रतीक हैं जो वह केवल नर्सों के लिए ही नहीं, बल्कि समूची मानवता के लिए प्रेरणा का स्त्रोत हैं। नर्सिंग व्यवसाय को उन्हीं के प्रयासों से आगे बढ़ाया जा सका और विश्व स्तर पर इसे मान्यता मिली। जय राम ठाकुर ने कहा कि रोगियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए नर्सें संवेदना और सेवा भाव के साथ कार्य करती हैं और रोगी भी उनसे ऐसे ही व्यवहार की अपेक्षा रखते हैं। उन्होंने कहा कि रोगियों के साथ चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ का अच्छा व्यवहार उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ दिलाने में सहायता करता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पिछले चार महीनों की अवधि में स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। चिकित्सकों के 262 पद भरे गए हैं और चिकित्सकों के 200 व पैरामेडिकल स्टाफ के2000 और पद भरने की प्रक्रिया जारी है जिससे स्वास्थ्य संस्थानों को सुदृढ़ बनाने में सहायता मिलेगी। प्रदेश सरकार प्रयास कर रही है कि स्वास्थ्य मानकों में हिमाचल प्रदेश को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाया जा सके।उन्होंने कहा कि प्रदेश की पूर्व सरकार ने 16डिग्री कालेज खोलने की घोषणा की लेकिन प्रत्येक कालेज के लिए मात्र एक लाख रुपये का प्रावधान किया गया। इसी तरह अपने कार्यकाल के अन्तिम कुछ महीनों में पूर्व सरकार ने बिना बजट प्रावधान और आवश्यक स्टाफ के कई स्वास्थ्य संस्थान भी खोल डाले थे।

मादक द्रव्यों के सेवन के बढ़ रहे मामलों पर चिन्ता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह हम सभी का सामूहिक उत्तरदायित्व है कि नशामुक्त समाज के निर्माण की दिशा में अपना सहयोग दें। समाज और विशेषकर युवा पीढ़ी पर पाश्चात्य संस्कृति का बढ़ता प्रभाव एक बड़ी चुनौती है और अभिभावकों को चाहिए कि वे अपने बच्चों की गतिविधियों पर निरन्तर नजर रखें। उन्होंने कहा कि सरकार इस सामाजिक बुराई के उन्मूलन के लिए प्रतिबद्ध है। जय राम ठाकुर ने घोषणा की कि नर्सों को प्रदान किए जा रहे 13 माह के वेतन को अब नए मूल वेतन और ग्रेड पे के आधार पर दिया जाएगा। उन्होंने नर्सों का दैनिक आहार भत्ता 6रुपये से बढ़ाकर 25 रुपये करने की भी घोषणा की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *