प्रधानमंत्री ने ली राज्य में भारी वर्षा से हुए नुकसान की जानकारी, सीएम ने पीएम को करवाया अवगत प्रदेश को करीब 1250 करोड़ रुपये का नुकसान

प्रधानमंत्री मोदी से मिले मुख्यमंत्री जयराम, प्रदेश को उड़ान योजना के फेस 2 के तहत अधिकाधिक फंड मुहैया करवाने का किया आग्रह

  • औद्योगिक पैकेज , रेल नेटवर्क सुदृढ़ करने व रोहतांग टनल के काम में तेजी लाने का किया आग्रह
  • प्रधानमंत्री ने प्रदेश सरकार के 100 दिन के कामकाज को सराहा

 नई दिल्ली: उत्तर पूर्व राज्यों की तर्ज पर हिमाचल प्रदेश के लिए औद्योगिक पैकेज स्वीकृत करने का हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने  राज्य में रेल नेटवर्क बढ़ाने तथा रोहतांग सुरंग के काम में तेजी लाने का भी आग्रह किया ताकि इस सुरंग के जरिए आवाजाही शुरू होने पर लाहौल घाटी पूरा साल सैलानियों व स्थानीय बाशिंदों के लिए खुली रहे। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने व सामरिक दृष्टि से यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हवाई अड्डे के निर्माण की भी जोरदार वकालत की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश सरकार के  100 दिन के कामकाज  व राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई  नई जन कल्याणकारी योजनाओं  की सराहना  की और प्रदेश की विकासात्मक जरूरतों के लिए हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को प्रदेश में 2- 3 ऐसे क्षेत्र चिह्नित करके उनमें प्रमुखता से कार्य करने का सुझाव दिया जो पूरे देश के लिए रोल मॉडल बन सकें। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के 100 सुशासन व सर्वांगीण विकास की दिशा में नई सोच और नई पहल के साक्षी हैं और राज्य के विकास व लोगों के जीवन में सुधार लाने की दिशा में सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं। इस मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रधानमंत्री से प्रदेश को उड़ान योजना के फेस 2 के तहत अधिकाधिक फंड मुहैया करवाने का आग्रह किया ताकि इस योजना का प्रदेशवासी भरपूर फायदा ले सकें और प्रदेश के अधिक से अधिक पर्यटन व प्रमुख स्थल इसके तहत कवर किये जा सकें। उन्होंने कहा  उड़ान योजना के तहत केंद्र सरकार के विशेष प्रोत्साहन से प्रदेश में पर्यटन को  बढ़ावा मिलेगा।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश को ऊर्जा राज्य बनाने के लिए यहां मौजूद अपार जल विद्युत क्षमता के दोहन के लिए भी केंद्र सरकार से मदद मांगी और पावर प्रोजेकटों के लिए फॉरेस्ट क्लियरेंस हेतु प्रदेश सरकार को एक हेक्टर के स्थान पर 5 हेक्टेयर तक अनुमति प्रदान करने की स्वीकृति प्रदान करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में रेल नेटवर्क बढ़ाने की मांग भी जोरदार तरीके से प्रधानमंत्री के समक्ष उठाई।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर में प्रधानमंत्री को बताया कि प्रदेश में शासन की बागडोर संभालने के पहले दिन से ही भाजपा के स्वर्णिम हिमाचल दृष्टिपत्र – 2017 को उनकी सरकार ने सरकारी नीति दस्तावेज के रूप में अपनाया है और सबका कल्याण – सबका विकास सुनिश्चित करने के साथ – साथ विकास योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करने की दिशा में ठोस कदम उठाए गए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को यह भी बताया कि प्रदेश सरकार ने अपने पहले ही बजट में लगभग 30 नई योजनाओं का समावेश करके एक ऐतिहासिक पहल की है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *