आगजनी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए प्रशासन द्वारा राहत व पुर्नवास कार्य युद्ध स्तर पर

आगजनी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए प्रशासन द्वारा राहत व पुर्नवास कार्य युद्ध स्तर पर

  • रोहडू अग्निकांड : आग से 36 मकान जले, 54 परिवार प्रभावित
  • मुख्यमंत्री ने आगजनी की घटना पर किया शोक व्यक्त

 शिमला: जिला शिमला के रोहडू उपमंडल के कशैनी गांव में आगजनी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए जिला प्रशासन शिमला द्वारा राहत व पुर्नवास कार्य युद्ध स्तर पर चलाया जा रहा है। हादसे की सूचना प्राप्त होते ही उपायुक्त शिमला अमित कश्यप मौके पर पहुंचे और पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव कदम उठाने के निर्देश दिए।

उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने बताया कि आग से 54 परिवार प्रभावित हुए हैं तथा 36 मकान जल गए हैं इस हादसे में जान का कोई नुकसान नहीं हुआ है ।उन्होंने बताया कि आग को काबू करने के लिए 4 टेंडर को काम में लगाया गया, प्रभावितों को प्रति परिवार 10 -10 हजार रुपए की फौरी राहत राशि प्रदान की गई है उन्हें कंबल भी प्रदान किए गए हैं तथा पीड़ितों के लिए कम्युनिटी किचन तथा रहने के लिए कम्युनिटी सेंटर में व्यवस्था की गई है। लोगों को मौके पर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के लिए चिकित्सकों को तैनात किया गया है। जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अधिकारी को जरूरी खाद्य वस्तुएं तथा राशन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

  • मुख्यमंत्री ने आगजनी की घटना पर शोक किया व्यक्त

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला जिले के रोहड़ू उपमण्डल के कशैणी गांव में गत रात हुई आगजनी की घटना पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। आगजनी की इस घटना में  36 घर जल कर राख हो गए हैं और 54 परिवार बेघर हुए हैं।  मुख्यमंत्री ने अग्निकाण्ड में बेघर हुए पीड़ित परिवारों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि वह आगजनी की इस दुःखद घटना से बुरी तरह आहत हैं। उन्होंने विश्वास दिलाया कि दुख की इस घड़ी में प्रदेश सरकार प्रभावित परिवारों के साथ हैं।

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को तुरंत आगजनी के स्थान पर पहुंचने तथा राहत व बचाव कार्यों के निरीक्षण व संचालन के निर्देश दिए। उन्होंने प्रत्येक प्रभावित परिवार को दस-दस हजार रुपये की फौरी राहत प्रदान करने की भी घोषणा की।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, विधायक नरेन्द्र बरागटा, अपनी टीम सहित उपायुक्त अमित कश्यप तुरंत घटना स्थल पर पहुंचे तथा राहत व बचाव कार्यों की निगरानी की व अन्य आवश्यक प्रबंधों को अंजाम दिया। पुलिस अधीक्षक शिमला ओमापति जमवाल उपमंडलाधिकारी रोहडू तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर उपस्थित है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *