सुकेती जीवाश्म पार्क पर्यटन गतिविधियों के लिए होगा विकसित: मुख्यमंत्री

सुकेती जीवाश्म पार्क पर्यटन गतिविधियों के लिए होगा विकसित: मुख्यमंत्री

  • जय राम ठाकुर ने कालाअंब में रखी अग्निशमन पोस्ट भवन की आधारशिला
  • कालाअम्ब में ईएसआई अस्पताल खोलने का मामला केन्द्र सरकार से उठाएंगे
  • मुख्यमंत्री ने कालाअम्ब पंचायत तथा साडा क्षेत्र में स्वच्छता अभियान का किया शुभारम्भ

शिमला : सिरमौर ज़िले में सुकेती जीवाश्म पार्क को एशियन विकास बैंक की सहायता से पर्यटन गतिविधियों के लिए विकसित किया जाएगा। यह पार्क प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री डॉ. वाई.एस. परमार द्वारा उठाया गया कदम था और यह पार्क एशिया का पहला जीवश्म पार्क है। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार इस पार्क के विकास के लिए किसी भी निजी निवेश को स्वीकार करेगी।

वह नागल सुकेती में संग्रहालय तथा जीवाश्म पार्क को दौरा करने के उपरान्त जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्क को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा तथा राज्य सरकार द्वारा इसके लिए हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि पार्क का भ्रमण करने वाले सेलानियों की सुविधा के लिए जीवाश्म पार्क की ओर जाने वाली सड़क का शीघ्र विस्तार किया जाएगा। क्षेत्र के लिए और अधिक जलापूर्ति प्रदान करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने सुकेती गांव के लिए ट्यूबवैल भी स्वीकृत किया। उन्होंने कहा कि कालाअम्ब में ईएसआई अस्पताल खोलने का मामला केन्द्र सरकार से उठाया जाएगा। उन्होंने मार्कण्डेय नदी के तटीकरण के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हाल ही में अपने कार्यकाल के 100 दिन पूरे किए हैं और वह राज्य सरकार की उपलब्धियों से सन्तुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रस्तुत वर्तमान बजट में राज्य के लोगों के लिए 30 नई कल्याणकारी योजनाएं शामिल की गई हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी योजनाओं के लिए बजट में पर्याप्त राशि का प्रावधान किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का एक मात्र उद्देश्य समाज के प्रत्येक वर्ग का विकास सुनिश्चित करना तथा समाज के प्रत्येक वर्ग का कल्याण सुनिश्चित बनाना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बड़े-बड़े दावे करने पर नहीं, बल्कि काम करने पर विश्वास करती है। उन्होंने कहा कि नए भारत के निर्माण में प्रत्येक के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सरकार क्षेत्र के विकास के लिए हर सम्भव सहायता सुनिश्चित करेगी। उन्होंने लोगों से 2019 के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों को मजबूत करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने कालाअम्ब पंचायत तथा साडा क्षेत्र में स्वच्छता अभियान का भी शुभारम्भ किया। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने 3.80 करोड़ रुपये की लागत से कालाअम्ब में निर्मित होने वाली अग्निशमन चौकी के भवन की आधारशिला रखी। उन्होंने 10.74 करोड़ रुपये की लागत से त्रिलोकपुर-कालाअम्ब-सुकेती-बिक्रमबाग सड़क के सुदृढ़ीकरण की भी आधारशिला रखी।

विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. राजीव बिन्दल ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि जीवाश्म पार्क देश के विभिन्न भागों से आने वाले पर्यटकों के लिए प्रमुख पर्यटन गंतव्य बनकर उभर रहा है। उन्होंने कहा कि पार्क की ओर जाने वाली सड़क को विकसित किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने सुकेती में त्रिलोकपुर-कालाअम्ब-सुकेती-बिक्रमबाग सड़क का समय से पूर्व निर्माण करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

डॉ. बिन्दल ने जीवाश्म पार्क के लिए सम्पर्क मार्ग के विकास के लिए लगभग 11 करोड़ रुपये की राशि प्रदान करने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मार्कण्डेय नदी वर्षा ऋतु के दौरान तबाही मचाती है तथा नदी के तटीकरण और नदी पर बांध के निर्माण का आग्रह किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से कालाअम्ब पंचायत के लोगों के लिए पर्याप्त पेयजल सुविधा प्रदान करने का भी आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र के लोगों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए कालाअम्ब में ईएसआई अस्पताल प्रदान करने का आग्रह भी किया।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *