शिमला शहर के 80 होटलों में स्थापित किए जाएंगे बायोडॉयजैस्टर प्लांट

शिमला शहर के 80 होटलों में स्थापित किए जाएंगे बायोडॉयजैस्टर प्लांट

शिमला: शिमला शहर के 80 होटलों में बायोडॉयजैस्टर प्लांट स्थापित किए जाएंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव, शहरी विकास, तरूण कपूर ने कहा कि यह प्लांट होटल मालिकों द्वारा स्वयं स्थापित किए जाएंगे। इसके लिए होटलों को चिन्हित करने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। नगर निगम शिमला, शिमला जिला के नगर परिषदों और नगर पंचायतों की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए बोल रहे थे। बैठक में उपायुक्त शिमला अमित कश्यप, निदेशक शहरी विकास डॉ. डी.के.गुप्ता, आयुक्त नगर निगम शिमला रोहित जम्वाल, वरिष्ठ अधिकारी और निकायों के अधिकारी उपस्थित थे।

तरूण कपूर ने कहा कि जिला के रामपुर, रोहड़ू, चौपाल और सुन्नी में वेस्ट टू ऐनर्जी प्लांट स्थापित किए जाएंगे, ताकि ठोस कचरे का सही निष्पादन सुनिश्चित किया जाए। यह प्रयास किया जा रहा है कि ठोस व तरल कचरे का सही तरीके से प्रबंधन व निष्पादन सुनिश्चित करने के लिए शहरी निकायों द्वारा समयबद्ध कदम उठाए जाएं और इन्हें यह कार्य पूर्ण करने के लिए जरूरी मदद प्रदान की जाए।

शिमला में सभी शहरी निकाय क्षेत्रों में गार्वेज कोलेक्शन का कार्य सुनिश्चित बनाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं और इस संबंध में सभी निकायों को जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने सभी निकायों को अपने-अपने क्षेत्र में स्वच्छता अभियान आरंभ करने के निर्देश देते हुए कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए इस तरह के अभियान आयोजित किए जाने चाहिए। बैठक में विभिन्न शहरी निकायों ने स्टाफ व वित्तीय स्थिति के बारे में भी विस्तृत चर्चा की गई।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निकायों में पार्कों का बेहतरीन प्रबंधन, उनका सौंदर्यकरण करने के लिए भी व्यवस्था बनाई जाए। शहरी निकाय क्षेत्रों में पानी की निकासी व अच्छे रास्ते बनाने तथा स्ट्रीट लाईट के रखरखाव के लिए भी जरूरी निर्देश दिए। बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना, स्ट्रीट वैंडर मार्केट अंडर नेशनल अर्बन लाइवलिहुड मिशन सहित अन्य विषयों पर भी चर्चा की गई। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहरी निकाय क्षेत्रों में अनाधिकृत निर्माण को रोकने के लिए निकाय समयबद्ध कदम उठाना सुनिश्चित करें तथा नक्शों के अनुमोदन के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया का प्रयोग किया जाए।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *