"अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस" : सीएम ने किया उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदेश की महिलाओं को सम्मानित

“अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस” : सीएम ने किया उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदेश की महिलाओं को सम्मानित

  • राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री
  • हंस राम शर्मा ने दी महिलाओं के कल्याण के सम्बन्ध में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी
राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री

राज्य सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री

शिमला: आज अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर होटल पीटरहॉफ में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता और महिला एवं बाल विकास निदेशालय के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिरकत की। निदेशक महिला एवं बाल कल्याण विभाग हंस राम शर्मा ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया और महिलाओं के कल्याण के सम्बन्ध में चलाई जा रही योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।

मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रत्येक क्षेत्र में महिला नेतृत्व तथा उनके आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा देना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि सभी क्षेत्रां में महिलाओं की समान भागीदारी तथा नेतृत्व के माध्यम से सत्त विकास पर बल दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष के अभियान का विषय प्रेस फॉर प्रोग्रेसवर्तमान समय में प्रासंगिक है, क्योंकि आज सभी क्षेत्रों में महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण, लेंगिक समानता, महिला सशक्तिकरण तथा उत्थान की ओर क्षेत्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास व प्रगति दर्ज की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हालांकि 8 मार्च को प्रतिवर्ष अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है लेकिन वह मानते हैं कि साल के 365 दिन महिला शक्ति को समर्पित है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भाजपा के स्वर्णिम दृष्टि पत्र-2017 (विजन डॉक्यूमेंट) के अनुसार लैगिंक समानता, समान भुगतान, निष्पक्ष व बेहतर कार्य परिस्थितियां तथा क्षमता निर्माण के माध्यम से महिलाओं को सम्मान व अधिकार प्रदान करने और उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए कदम उठा रही है ताकि महिलाओं को उनके अधिकारां से सशक्त किया जा सके, जिसकी वे हकदार हैं। इसके अतिरिक्त उन्हें सभी आर्थिक संसाधन उपलब्ध करवाने, महिलाओं के विरूद्ध सभी तरह की हिंसा से निपटना तथा सत्त विकास व परिवर्तन लाने में महिलाओं की अहम् भूमिका को प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने महिलाओं के लिए बनाई गई नीतियों का प्रदेश के प्रत्येक कोने में प्रचार करने, महिलाओं के विभिन्न अधिकारों के प्रति उन्हें जागरूक बनाने तथा उनके हितों की रक्षा के लिए कानूनी जानकारी प्रदान करने का आग्रह किया।

  • मुख्यमंत्री ने बेहतर करने पर महिलाओं को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री सराज विधानसभा क्षेत्र के गोहर खण्ड की ग्राम पंचायत थरजून की सबसे कम आयु की प्रधान जबना चौहान को भी सम्मानित किया। जबना चौहान ने अपनी पंचायत में सफाई तथा स्वच्छता अभियान और नशाखोरी के खिलाफ अहम् भूमिका निभाई। उन्होंने अपनी पंचायत में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया है। इस उपलब्धि के लिए उन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी सराहा व सम्मानित किया गया।

मुख्यमंत्री ने संस्कृति तथा समाज सेवा को प्रोत्साहित करने के लिए शिमला ज़िले की कंचन शर्मा, समाज सेवा व स्वच्छता अभियान में योगदान तथा महिला अधिकारों के लिए संघर्ष करने के लिए ग्राम पंचायत जार की प्रधान आरती निरमोही, नशाखोरी के खिलाफ, स्वच्छता अभियान तथा सामाजिक कल्याण में योगदान के लिए कुल्लू की कुमारी सीता देवी को भी सम्मानित किया। उन्होंने महिला मंडल कोटली, मण्डी तथा हिमोत्कर्ष साहित्य संस्कृति जन कल्याण परिषद् ऊना को महिला सशक्तिकरण तथा महिलाओं को सभी प्रकार की सहायता प्रदान करने के लिए सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की 16 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी सम्मानित किया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *