अभिभावकों से निर्धारित मापदंडों के अनुसार ही वसूला जाए टैक्सी किराया : डीसी

शिमला: उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने शिमला में छात्रों को स्कूल तक आने और वापिस घर ले जाने के लिए प्रयोग की जाने वाली टैक्सियों के आपरेटरों और चालकों को ओवरलोडिंग नहीं करने के निर्देश दिए हैं। अमित कश्यप ने आज शहर के विभिन्न क्षेत्रों में यातायात व्यवस्था का निरीक्षण किया। उन्होंने स्कूलों के आसपास परिवहन व्यवस्था के कारण उत्पन्न होने वाली समस्याओं का जायजा भी लिया तथा उनके निराकरण के लिए अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि टैक्सियों में उतने ही छात्रों को बैठाया जाना चाहिए, जिससे कि उन्हें सुविधाजनक परिवहन उपलब्ध हो। इस संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय और माननीय उच्च न्यायालय द्वारा भी निर्देश जारी किए गए है और प्रशासन द्वारा उनकी अनुपालना सुनिश्चित की जा रही है।

टैक्सी आपरेटरों ने उपायुक्त शिमला से आग्रह किया कि प्रशासन के निर्देशों के अनुसार टैक्सियों में कम छात्रों को ले जाने से उन पर वित्तीय दबाव बढ़ा है। उपायुक्त ने उन्हें निर्देश दिए कि प्रशासन के ध्यान में अभिभावकों द्वारा यह बात लाई गई है कि टैक्सी आपरेटर कम संख्या में छात्रों को ले जाने की स्थिति में दोगुना किराया मांग रहे हैं, जोकि नहीं होना चाहिए तथा छात्रों के अभिभावकों से टैक्सी का निर्धारित मापदंडों के अनुसार ही किराया वसूल किया जाए।

उपायुक्त ने टैक्सी आपरेटरों को निर्देश दिए कि स्कूलों में छात्रों को लाने और वापिस ले जाने वाली टैक्सियों के किराए में पहले लिए जा रहे किराए के 15 फीसदी से अधिक वृद्धि नहीं की जानी चाहिए।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7  +  2  =