अटल पेंशन योजना में ग्राहकों की संख्‍या 86 लाख से ऊपर पहुंची

अटल पेंशन योजना में ग्राहकों की संख्‍या 86 लाख से ऊपर पहुंची

  • पीएफआरडीए ने अटल पेंशन योजना पहुंच कार्यक्रम के अंतर्गत उत्‍कृष्‍ट निर्माताओं के रूप में 21 बैंकों की पहचान की

नई दिल्ली: असंगठित क्षेत्र में समाज के आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को पेंशन अथवा वृद्धावस्‍था में आय सुरक्षा के दायरे में लाने के लिए सरकार ने मई 2015 में अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की शुरूआत की।

पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) ने वित्‍त मंत्रालय के वित्‍तीय सेवा विभाग के साथ नियमित आधार पर एपीवाई पहुंच कार्यक्रम चलाया। पीएफआरडीए ने दिसम्‍बर 2017 के दौरान एक पखवाड़े के लिए एपीवाई के अन्‍तर्गत ग्राहकों के पंजीकरण के लिए सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, निजी क्षेत्र के बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारिता बैंकों (शहरी और ग्रामीण) और डाक विभाग के अध्‍यक्ष और प्रबन्‍ध निदेशकों के लिए उत्‍कृष्‍टता निर्माता अभियान चलाया। इस अभियान के अर्न्‍तगत 6 लाख अटल पेंशन योजना खातों का स्रोत एपीवाई सेवा प्रदाता बैंक था। अभियान के दौरान विभिन्‍न बैंकों को लक्ष्‍य आंवटित किए गए। अभियान के अन्‍तर्गत लक्ष्‍य को हासिल करने वाले कुल 21 बैंकों में से 6 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, 14 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और 1 सहकारिता बैंक शामिल थे। पीएफआरडीए ने विजयी बैंकों के शीर्ष प्रबन्‍धन को आगामी पीएफआरडीए पेंशन सम्‍मेलन में पुरस्‍कृत करने की योजना बनाई है।

Top of Form

क्र. सं. एपीवाई सेवा प्रदाता का नाम श्रेणी शाखाओं की संख्‍या उत्‍कृष्‍टता निर्माता अभियान के अन्‍तर्गत स्रोत बनाए गए निधि वाले खातों की न्‍यूनतम संख्‍या उत्‍कृष्‍टता निर्माता अभियान के अन्‍तर्गत स्रोत बनाए गए निधि वाले खातों की वास्‍तविक संख्‍या टिप्‍पणियां (योग्‍य/अयोग्‍य)
1 केनरा बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 6,050 35,000 101,669 योग्‍य
2 इंडियनबैंक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 2,588 15,000 76,823 योग्‍य
3 आंध्रा बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 2,903 15,000 57,315 योग्‍य
4 बैंक ऑफ बड़ौदा सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 5,460 30,000 42,665 योग्‍य
5 इलाहाबाद बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 3,143 20,000 30,029 योग्‍य
6 विजया बैंक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम 1,603 10,000 28,241 योग्‍य
7 आर्यव्रत ग्रामीण बैंक आरआरबी 700 3,500 5,915 योग्‍य
8 मध्‍य बिहार ग्रामीण बैंक आरआरबी 698 3,490 5,507 योग्‍य
9 प्रगति कृष्‍ण ग्रामीण बैंक आरआरबी 650 3,250 5,383 योग्‍य
10 प्रथम बैंक आरआरबी 412 2,060 5,288 योग्‍य
11 बड़ौदा उत्‍तर प्रदेश ग्रामीण बैंक आरआरबी 924 4,620 5,125 योग्‍य
12 आंध्र प्रदेश ग्रामीण विकास बैंक आरआरबी 768 3,840 4,893 योग्‍य
13 बड़ौदा राजस्‍थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक आरआरबी 819 4,095 4,560 योग्‍य
14 पूर्वांचल बैंक आरआरबी 570 2,850 3,368 योग्‍य
15 कावेरी ग्रामीण बैंक आरआरबी 497 2,485 2,942 योग्‍य
16 देना गुजरात ग्रामीण बैंक आरआरबी 234 1,170 2,322 योग्‍य
17 बिहार ग्रामीण बैंक आरआरबी 376 1,880 2,258 योग्‍य
18 चेतन्‍या गोदावरी ग्रामीण बैंक आरआरबी 203 1,015 1,714 योग्‍य
19 पल्‍लवन ग्राम बैंक आरआरबी 256 1,280 1,431 योग्‍य
20 सप्‍तगिरी ग्रामीण बैंक आरआरबी 207 1,035 1,074 योग्‍य
21 द बेगूसराय सेंट्रल कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड डीसीसीबी 9 45 113 योग्‍य

एपीवाई योजना 1 जून, 2015 से अस्तित्‍व में आई और 18-40 वर्ष की आयु वर्ग के  भारत के सभी नागरिक इसका लाभ ले सकते हैं। योजना के अन्‍तर्गत किसी भी ग्राहक को 60 वर्ष की आयु से 1000 रुपये से 5000 रुपये प्रतिमाह न्‍यूनतम पेंशन की गांरटी है। पेंशन की यही राशि ग्राहक के जीवनसाथी को भी दी जाएगी और दोनों की मृत्‍यु होने पर पेंशन की जमा राशि नामित व्‍यक्ति को दे दी जाएगी।

एपीवाई योजना उसी निवेश पैटर्न का पालन करती है, जो केन्‍द्र सरकार के कर्मचारियों के एनपीएस योगदान पर लागू है। वर्ष 2016-17 के दौरान इसे 13.91 प्रतिशत रिटर्न मिला। वर्तमान में एपीवाई ग्राहकों की संख्‍या 86 लाख से ऊपर है। वार्षिक अतिरिक्‍त एपीवाई नामांकन नीचे दिया गया है।

एपीवाई ग्राहक अतिरिक्‍त (लाख में)

 

वर्ष 2015-16 2016-17 2017-18  ( 13 फरवरी 2018 तक) कुल
ग्राहकों की संख्‍या (लाख में) 24.84 23.99 37.63 86.46

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *