टीसीपी मंत्री के समयबद्ध परियोजनाएं पूरी करने के निर्देश

टीसीपी मंत्री के समयबद्ध परियोजनाएं पूरी करने के निर्देश

  • टीसीपी मंत्री : विभाग के पदों को चरणबद्ध तरीके से जाएगा भरा
  • : सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ को बनाया जाएगा और प्रभावी, ताकि प्रदेश भर में निर्माण में हो रही अनियमितताओं पर रखी जा सके नजर
  • तरूण कपूर ने योजनाओं को व्यावहारिक बनाने पर दिया बल
  • विभाग कारोबार में बना है अग्रणी : नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग निदेशक संदीप कुमार
  • नक्शों को स्वीकृत करने की प्रक्रिया का होगा सरलीकरण
  • लम्बित मामलों को स्वीकृति के लिए दी जाएगी विशेष प्राथमिकता

शिमला: विभाग को और सुदृढ़ किया जाएगा। आम आदमी तथा निर्माण कर्ताओं की सुविधा के लिए प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाएगा। यह बात आज यहां शहरी विकास, नगर एवं ग्राम नियोजन तथा आवास मंत्री सरवीन चौधरी ने शहरी एवं ग्राम नियोजन विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने कहा कि विभाग के पदों को चरणबद्ध तरीके से भरा जाएगा तथा सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ को और प्रभावी बनाया जाएगा ताकि प्रदेश भर में निर्माण में हो रही अनियमितताओं पर नजर रखी जा सके।

चौधरी ने विभाग के अधिकारियों को भविष्य के लिए लक्ष्यों का निर्धारण करने तथा उन्हें तय समय सीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिए। मंत्री ने कहा कि अमरुत के अन्तर्गत शिमला तथा कुल्लू शहर की विकास योजनाओं को तैयार करने के कार्य को शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा। योजना अधोसंरचना के लिये आधार, प्रभावी भू-उपयोग प्रबन्धन, आकाशीय वृद्धि प्रबन्धन योजना और नगरों तथा शहरों दोनों का प्रबन्धन उपलब्ध करवाएगी। विभाग सुन्दरनगर, जोगिन्द्र नगर तथा घुमारवीं शहरों के लिए जीआईएस आधारित उपलब्ध मौजूदा भूमि प्रयोग को भी विकसित क रहा है। इसके अतिरिक्त, शिमला शहर के लोअर बाजार, सब्जी मण्डी, गंजबाजार और कृष्णानगर क्षेत्र का शहरी नवीकरण योजना तैयार करने का कार्य प्रगति पर है।

उन्होंने राजस्व, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा अन्य संबंधित विभागों के बीच आवासीय परियोजनाओं के बेहतर कार्यान्वयन के लिए आपसी समन्वय तथा कानून व प्रक्रिया को लागू करना की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि नक्शों को स्वीकृत करने की प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाएगा तथा लम्बित मामलों को स्वीकृति के लिए विशेष प्राथमिकता दी जाएगी।

अतिरिक्त मुख्य सचिव शहरी विकास, आवास तथा नगर एवं ग्राम नियोजन तरूण कपूर ने योजनाओं को व्यावहारिक बनाने पर बल दिया ताकि इसका सही प्रकार से कार्यान्वन किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित बनाया जाना चाहिए कि एक बार जब योजना पूरी हो जाए तो उसे प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। उन्होंने लोगों की सुविधा के लिए प्रक्रियाओं में सरलीकरण की आवश्यकता पर भी बल दिया।

नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग के निदेशक संदीप कुमार ने विभाग की गतिविधियों व साडा तथा विशेष योजना क्षेत्र में कार्यान्वित किए जा रही परियोजनाओं की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विभाग कारोबार में अग्रणी बना है और सभी सुविधाएं ऑनलाईन प्रदान की जा रही हैं। इसके अतिरिक्त, शहरी एवं ग्रामीण विकास विभाग की सेवाएं लेने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए विशेष जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *