स्वास्थ्य विभाग में भरे जाएंगे चिकित्सकों के 100 पद : विपिन सिंह परमार

स्वास्थ्य विभाग में भरे जाएंगे चिकित्सकों के 100 पद : विपिन सिंह परमार

  • कहा : लोगों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाए अस्पताल प्रशासन
  • बेहतर सफाई व्यवस्था व रोगियों को पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाने के निर्देश
  • प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को किया जाएगा और सुदृढ़

शिमला: स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ़ किया जाएगा तथा हिमाचल प्रदेश सार्वभौमिक स्वास्थ्य संरक्षण योजना को प्रदेश के समस्तजनों तक पहुंचाया जाएगा। परमार आज यहां स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ़ करने के लिए निकट भविष्य में चिकित्सकों के 100 पद भरे जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के मेडिकल कॉलेज चम्बा, नेरचौक व नाहन में लोगों की सुविधा के लिए अधोसंरचना को मजबूत किया जाएगा, साथ ही यहां संकाय शिक्षकों के रिक्त पदों को भी भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि चिकित्सक समाज की रीढ़ है और प्रदेश के चिकित्सकों ने देश भर में अपनी मेहनत से नाम कमाया है तथा अनेक पुरस्कार भी प्राप्त किए हैं।

विपिन सिंह परमार ने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अर्न्तगत गरीबी रेखा से नीचे रह रहे परिवारों, मरनेगा, भवन एवं सन्निर्माण, कामगारों, सफाई कर्मियों, रेहड़ी-फड़ी, ऑटो रिक्शा, टैक्सी चालकों व बुनकरों को लाया गया है। योजना के अन्तर्गत साधारण बीमारी की स्थिति में 30 हजार का बीमा छत्र प्रदान किया जा रहा है। इसका प्रीमियम का भुगतान केन्द्र तथा प्रदेश द्वारा 90:10 के अनुपात से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गम्भीर बीमारियों के लिए 1.75 लाख रुपये जबकि केंसर के लिये 2.25 लाख रुपये का बीमा छत्र दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गम्भीर बीमारियों का शत-प्रतिशत व्यय प्रदेश सरकार द्वारा वहन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में 4 लाख 83 हजार 643 स्मार्ट कार्ड वाले परिवारों को योजना के अर्न्तगत लाया गया है।

परमार ने मुख्यमंत्री राज्य स्वास्थ्य देखभाल योजना व हिमाचल प्रदेश सार्वभौमिक स्वास्थ्य संरक्षण योजना की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राज्य स्वास्थ्य देखभाल योजना के अन्तर्गत ऐसे वर्गों को लाया गया है जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अर्न्तगत नहीं आते हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना के अर्न्तगत 80 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों, एकल नारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायक, मिड-डे-मिल कार्यकर्ताओं, अंशकालीन कामगारों, दिहाड़ीदारों, अनुबन्ध कर्मियों व 70 प्रतिशत से अधिक अक्षमता वाले व्यक्तियों को लाया गया है। उन्होंने कहा कि योजना के अर्न्तगत राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के अनुरूप ही निःशुल्क स्वास्थ्य उपचार प्रदान किया जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश में लगभग 5.36 लाख परिवार किसी भी स्वास्थ्य बीमा/संरक्षण एवं चिकित्सा प्रतिपूर्ति के अर्न्तगत नहीं आते है। इसके दृष्टिगत प्रदेश में हिमाचल प्रदेश सार्वभौमिक स्वास्थ्य संरक्षण योजना आरम्भ की गई है जिसके अर्न्तगत लाभार्थी परिवार को एक साल के लिए एक रुपये प्रतिदिन यानी 365 रुपये अदा करने होंगे। उन्होंने कहा कि योजना के अर्न्तगत 3900 परिवारों को पंजीकृत किया गया है और पांच लाख परिवारों को योजना के अर्न्तगत लाने का लक्ष्य रखा गया है।

  • स्वास्थ्य मंत्री ने किया इन्दिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का निरीक्षण

स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने आज इन्दिरा गांधी मैडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया तथा महाविद्यालय के प्राचार्य व अन्य विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की। उन्होंने अस्पताल प्रशासन को लोगों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने अस्पताल परिसर में बेहतर सफाई व्यवस्था रखने व रोगियों को पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर प्रधान सचिव स्वास्थ्य प्रबोध सक्सेना, स्वास्थ्य निदेशक डा. बलदेव ठाकुर, निदेशक एनएचआरएम पंकज राय तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *