मुख्यमंत्री ने बांटे विभाग, किस मंत्री को मिला कौन सा विभाग....

सीएम ने की कर्मचारियों को तीन प्रतिशत मंहगाई भत्ते की घोषणा, कहा: कर्मचारियों के लाभ के लिए सरकार का सहयोगात्मक रहेगा रवैया

कर्मचारियों के लाभ के लिए सरकार का सहयोगात्मक रहेगा रवैया

कर्मचारियों के लाभ के लिए सरकार का सहयोगात्मक रहेगा रवैया

शिमला: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां सचिवालय परिसर में सचिवालय के सभी पांच कर्मचारी संगठनों को सम्बोधित करते हुए राज्य सरकार के कर्मचारियों को पहली जुलाई, 2017 से तीन प्रतिशत मंहगाई भत्ता प्रदान करने की घोषणा की। मंहगाई भत्ता जनवरी, 2018 के वेतन के साथ नकद प्रदान किया जाएगा जो पहली फरवरी को देय होगा। उन्होंने कहा कि तीन प्रतिशत मंहगाई भत्ता राज्य सरकार के पेंशनरों को भी प्रदान किया जाएगा। इससे वार्षिक लगभग 180 करोड़ रुपये का अतिरिक्त वित्तीय बोझ पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की सरकार की नीतियों व कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका रहती है और राज्य सरकार कर्मचारियों के कल्याण के प्रति बचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्मचारियों को निष्ठापूर्वक व समर्पण की भावना से कार्य करना चाहिए और सरकारी नौकरी को दूसरे दर्जे के तौर पर नहीं समझना चाहिए। उन्होंने कहा यद्यपि सरकार के सरकारी क्षेत्र में नौकरियां उपलब्ध करवाने के प्रयास रहते हैं, लेकिन मेरा यह मानना है कि हमें सरकारी नौकरियों पर ही निर्भर रहने की मानसिकता को बदलना होगा।उन्होंने कहा कि लोगों के कल्याण तथा समाज की भलाई के लिये पर्याप्त समय प्रदान करने के लिये हमें सरकारी सेवा के लिये निर्धारित समय-सीमा से बाहर भी कार्य करना चाहिए।

मुख्यममंत्री ने कहा कि कर्मचारियों के साथ हमारे हमेशा ही सौहार्दपूर्ण सम्बन्ध रहे हैं और मेरा मानना है कि यह परम्परा भविष्य में इसी तरह जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के लाभ के लिए सरकार का हमेशा ही सहयोगात्मक रवैया रहेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीखने की उम्र नहीं होती और व्यक्ति को जीवन के प्रत्येक स्तर पर सीखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं सुझावों का हमेशा ही सम्मान करता हूँ और मेरा मानना है कि एक आम आदमी द्वारा दिया गया सुझाव भी जीवन के लिए फलदायी हो सकता है और जीवन में बदलाव का एक माध्यम बन सकता है

मंत्रिमण्डल के सदस्यों में महेन्द्र सिंह ठाकुर सुरेश भारद्वाज, अनिल शर्मा, वीरेन्द्र कंवर, रामलाल मारकण्डा, विधायकगण, मुख्य सचिव वी.सी.फारका, अतिरिक्त मुख्य सचिव (मुख्यमंत्री) मनीषा नन्दा, प्रधान सचिव तथा राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों सहित अन्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *