नौणी विवि ने कृषि शिक्षा दिवस पर लोगों को कृषि के माध्यम से स्वरोजगार के लिए किया प्रेरित

नौणी विवि ने कृषि शिक्षा दिवस पर लोगों को कृषि के माध्यम से स्वरोजगार के लिए किया प्रेरित

शिमला: भारत के पहले राष्ट्रपति और कृषि मंत्री, भारत रत्न डॉ. राजेंद्र प्रसाद की याद में डा॰ यशवंत सिंह परमार उद्यानिकी और वानिकी विश्वविद्यालय ने ‘कृषि शिक्षा दिवस’ का आयोजन किया। यह आयोजन विश्वविद्यालय के विस्तार शिक्षा निदेशलय एवं छात्र कल्याण संगठन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस कार्यक्रम में 60 किसानों और छात्रों ने भाग लिया। इस अवसर पर छात्रों के लिए निबंध लेखन एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। डा॰ सीता राम धीमान, डा॰ नवीन शर्मा, डॉ. हैप्पी देव और डॉ. मीना ठाकुर ने कृषि के महत्व को ध्यान में रखते हुए वक्तव्य प्रस्तुत किए।

नौणी विवि के छात्र कल्याण अधिकारी डॉ. राकेश गुप्ता ने कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि भाग लिया। उन्होनें किसानों, बागवानों तथा छात्रों से कृषि शिक्षा प्रदान करने पर बल दिया और लोगों को कृषि के माध्यम से स्वरोजगार बनने के लिए प्रेरित करने की बात कही। नौणी ग्राम पंचायत के प्रगतिशील किसान और प्रधान बलदेव ठाकुर ने भी इस मौके पर अपने विचार रखे। निबंध लेखन में पंकज ठाकुर ने पहला, सर्वेश चौधरी ने दूसरा और दीपक शर्मा ने तीसरा स्थान हासिल किया। पोस्टर प्रतियोगिता में शिल्पा शर्मा प्रथम रही। गौरी सूद और स्तुति शर्मा दूसरे और तीसरे स्थान पर रही। मुख्य अतिथि ने विजेताओं को पुरस्कार बांटे। डा. अंजु धीमान, डा. काशमीर पन्त और डा. दलीप मोदगिल ने सभी प्रतियोगिताओं में निर्णायक की भूमिका निभाई। विस्तार शिक्षा के डॉ. भाई चंद और डा. विमल चौहान भी इस मौके पर मौजूद रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *