कोटखाई गुडिय़ा प्रकरण: सीबीआई ने पेश किया चालान, पूर्व जैदी, नेगी समेत 9 पुलिस कर्मियों की बढ़ी न्यायिक हिरासत

कोटखाई गुडिय़ा प्रकरण: सीबीआई ने पेश किया चालान, जैदी, नेगी समेत 9 पुलिस कर्मियों की बढ़ी न्यायिक हिरासत

शिमला: कोटखाई गुडिय़ा प्रकरण में गिरफ्तार किए आरोपियों में से एक आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हुई हत्या के मामले में सीबीआई ने कई खुलासे किए हैं। सीबीआई द्वारा शनिवार को विशेष जज (सीबीआई) की कोर्ट में आठ पुलिस कर्मियों के खिलाफ चालान पेश किया गया। जानकारी के मुताबिक सूरज के शरीर पर चोट के32 निशान थे और यह निशान उसके पोस्टमार्टम में सामने आए हैं।

करीब छह सौ पन्नों की चार्जशीट में सीबीआई ने कहा है कि पुलिस द्वारा करवाए गए पोस्टमार्टम में चोट से 22 निशान थे, जबकि जब सीबीआई ने अपनी देखरेख में सूरज का दोबारा पोस्टमार्टम करवाया गया तो उसमें चोट के 32 निशान पाए गए। सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में आरोपियों पर लगाए आरोपों को पुख्ता करने के लिए 50 से ज्यादा गवाह सूचीबद्ध किए हैं। इनमें गुडिय़ा मामले में पकड़े गए अन्य पांचों आरोपी भी शामिल हैं। तो वहीं दूसरी ओर, कोटखाई के गुडिय़ा प्रकरण में गिरफ्तार किए आरोपियों में से एक आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हुई हत्या के मामले में हिरासत में चल रहे पुलिस अफसरों की न्यायिक हिरासत फिर बढ़ गई है। आज स्पेशल जज (सीबीआई) की कोर्ट में इन्हें पेश किया गया और वहां से इन्हें फिर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इनमें से नेगी को छोड़ शेष आठों 29 अगस्त को गिरफ्तार किए गए थे, जबकि नेगी को 16 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। अब इन सभी की न्यायिक हिरासत बढ़ी है और अब इन्हें 7 दिसंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

इन सभी पर पुलिस लॉकअप में सूरज हत्याकांड आईजी जहूर जैदी, एसपी डीडब्ल्यू नेगी समेत कुल 9 पुलिस कर्मी आरोप है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *