फोन टैपिंग मामले में बरी होने पर भंडारी ने प्रदेश कांग्रेस सरकार सहित कई अधिकारियों पर साधा निशाना

फोन टैपिंग मामले में बरी होने पर भंडारी ने प्रदेश कांग्रेस सरकार सहित कई अधिकारियों पर साधा निशाना

शिमला : हिमाचल में बहुचर्चित फोन टैपिंग मामले में जहां पूर्व डीजीपी आईडी भंडारी सेशन कोर्ट से बरी हो गए हैं वहीं फोन टैपिंग मामले में बरी होने पर उन्होंने  प्रदेश कांग्रेस सरकार सहित कई अधिकारियों पर झूठे केस में फंसाने की बात कही । उन्होंने कहा कि उन अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे जिन्होंने झूठे केस में फंसाया है।

आज शिमला में पत्रकार वार्ता के दौरान आईडी भंडारी ने कहा कि उन पर पिछले चुनावों के समय फोन टैप करने के आरोप लगाए गए थे। उन्होंने कहा कि  कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने ही झूठा केस बनवाया था। जबकि उन्होंने किसी का फोन टैप नहीं किया। यह कोर्ट में यह साबित हो गया है। भंडारी ने कहा इस मामले में वह 20 नवंबर को बाइज्जत बरी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से यह मामला बनाया गया। उन्होंने कहा कि उनकी स्वच्छ छवि को खराब करने का प्रयास किया गया। उन्होंने कहा कि साढ़े चार साल तक उन्हें ह्रास किया गया, लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। अब यह बात साफ हो गई है कि कोई भी फोन टैप नहीं हुआ था। उन्होंने कहा कि उन अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे जिन्होंने झूठे केस में फंसाया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *