शिकारी माता मंदिर की ओर जाने पर लगा प्रतिबंध

शिकारी माता मंदिर की ओर जाने पर लगा प्रतिबंध

गोहर:  गोहर: प्राकृतिक की अदभुत छटा पर विराजमान अनोखे शिकारी देवी मंदिर में जाने पर प्रतिबंध लग गया है। शिकारी देवी हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले की सबसे ऊंची चोटी है। यह पहाड़ी इलाका अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के अलावा रोमांचक भी है। बर्फबारी की आशंका के चलते मंदिर में बिना अनुमति जाने पर प्रशासन ने 15 नवंबर से 15 अप्रैल तक माता के दर्शन हेतु श्रद्धालुओं के जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्रशासन का कहना है कि इस अवधि के दौरान माता के मंदिर को जाने वाले रास्ते बर्फबारी के चलते जम जाते हैं और कोई भी श्रद्धालु मंदिर की तरफ न जाएं।

जानकारी अनुसार इस अवधि के दौरान मंदिर में कोई भी पुजारी व कर्मचारी भी मौजूद नहीं होते हैं और वहां ठहरने का भी कोई प्रबंध नहीं है। जंजैहली के एस.डी.एम. अश्वनी कुमार ने कहा है कि 15 नवंबर से 15 अप्रैल तक शिकारी माता मंदिर की ओर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है और कोई व्यक्ति वहां जाने का जोखिम न लें। बता दें कि 2 साल पहले यहां 2 इंजीनियरिंग के छात्र भारी बर्फबारी में मार्ग भटक गए थे और 4 दिन बाद उनके शव जानवरों द्वारा नोचे जाने के बाद जंगल से मिले थे, जिसके लिए प्रशासन को एक बड़ा रैस्क्यू आप्रेशन चलाना पड़ा था। लिहाजा इस बार एहतियातन ऐसा निर्णय लेना पड़ा है। 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *