जेटली के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. धूमल ने जताया गहरा दुख

हताश, निराश व असफल कांग्रेसी कर रहे झूठे बयानों से लोगों को गुमराह करने की कोशिश : प्रो. धूमल

टौणीदेवी  : हताश, निराश और असफल कांग्रेसी कर रहे झूठे बयानों से लोगों को गुमराह करने की कोशिश। पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने आज यहाँ जारी प्रेस विज्ञप्ति में यह बात कही। प्रो. धूमल ने कहा कि अक्तूबर रैली में प्रधानमन्त्री नरेंदर मोदी ने बिलासपुर में प्रदेश को हजारों करोड़ रूपए के तोहफे दिए हैं। एक से एक बढ़िया संस्थान समर्पित किया है। सत्तर लाख आबादी वाले प्रदेश के लिए तेरह सौ करोड़ रूपए की इन्वेस्टमेंट से बनने वाला एम्स कॉलेज, इसी तरह ट्रिपल आई टी और स्टील प्लांट, यह सब बहुत बड़ी सौगातें हैं। इन सब सौगातों के लिए सारा प्रदेश उनका आभारी है।

प्रो. धूमल ने कहा कि कुछ थोड़े से लोग जो कांग्रेस के चश्मे से देखते हैं, राजनितिक चश्मे से देखते हैं, वह इसमें भी कुछ न कुछ टिपण्णी कर रहे हैं। सेब पर आयात शु:ल्क बढ़ाने का वायदा प्रधानमन्त्री ने नहीं निभाया इस खबर को विचित्र बताते हुए पूर्व सीएम ने कहा की इस खबर में कहा गया कि यह वायदा 2013 के लोकसभा चुनावों में किया गया है। जिस व्यक्ति ने यह बात कही वह कितना सत्य बोल रहा है, इस बात का अनुमान यहीं से लगाया जा सकता है की 2013 में कोई लोकसभा चुनाव नहीं हुआ है।

प्रो. धूमल ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2014 में हुआ और इस चुनाव में भाजपा के चुनाव घोषणा पत्र में कहीं भी सेब पर आयात शुल्क बढाने की बात नहीं आई है, क्यूंकि हम जानते हैं की जब श्रद्धेय अटल बिहारी बाजपेयी देश के प्रधानमन्त्री थे तब हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार के प्रयत्नों और प्रयासों से उन्होंने सेब पर आयात शुल्क को पचास प्रतिशत बढ़ा दिया था। जोकि वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन के एग्रीमेंट के अनुसार सबसे अधिक सीमा थी किसी भी वस्तु पर आयात शु:ल्क लगाने की, इससे अधिक शुल्क कोई लगा ही नहीं सकता। लेकिन कांग्रेस ने 2004 में लोगों को गुमराह किया कि हम आयेंगे तो शत प्रतिशत आयात शु:ल्क बढ़ा देंगे। लेकिन कांग्रेस दस साल सत्ता में रही परन्तु आयात शुल्क नहीं बढ़ा। उसी दौरान जब हिमाचल से ही आनन्द शर्मा कुछ समय के लिए वाणिज्य मंत्री बने थे तब हमने उनको कहा कि सेब का आयात शुल्क बढ़ाया जाए। तब उन्होंने कहा की डबल्यूटीओ के मुताबिक पचास प्रतिशत पहले ही लग चुका है इससे ज्यादा नहीं लग सकता। प्रो. धूमल ने कहा की सेब पर आयात शुल्क नहीं बढ़ाया जा सकता फिर यह काम प्रधानमन्त्री मोदी जी कैसे कर सकते हैं और तो और नरेंदर मोदी जी ने ऐसा कुछ कहा भी नहीं है। यह केवल झूठे शब्द मुंह में डालने का प्रयास किया जा रहा है।

प्रो. धूमल ने कहा की वास्तव में कुछ लोग दुष्प्रचार में लगे हुए हैं, उनको लगता है की इतनी बड़ी रैली, हजारों करोड़ के इतने बड़े तोहफे मिल गए, तो यह बात निकाल दी की यह तो किया ही नहीं। उन्होंने कांग्रेस को घेरते हुए कहा की सत्तर साल में से साठ साल राज तुम करते रहे, तो तुमने क्या किया जो अब सब कुछ मोदी जी को तीन सालों में ही करना है। प्रो. धूमल ने कहा की इन सब बातों से स्पष्ट संकेत मिलता है की कांग्रेस में निराशा है, हताशा है, वह अपने काम में असफल हो चुके हैं, इसीलिए झूठी ब्यान बाजी कर लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *