हिमाचल में ब्लू व्हेल गेम से ठियोग के 5वीं कक्षा के छात्र की मौत

हिमाचल में ब्लू व्हेल गेम से ठियोग के 5वीं कक्षा के छात्र की मौत

ठियोग: ब्लू व्हेल गेम का कई बच्चे इसका शिकार हो रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में भी ब्लू व्हेल गेम का खौफ देखने को मिल रहा है। ऐसा ही एक मामला सामने आया जिसमें बताया जा रहा है कि शिमला के ठियोग के रहने वाले 5वीं के छात्र ने फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। छात्र ने जान देने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। दो दिन पहले ही स्कूल में इस गेम को लेकर काउंसिलिंग हुई थी। इस घटना के बाद लोगों में दहशत का माहौल है। पुलिस ने सुसाइड को कब्जे में लेकर इस मामले में छानबीन शुरू कर दी है। गौर हो कि पिछले दिनों सोलन में भी इस तरह के मामले सामने आए थे, जहां कई बच्चों ने अपनी बाजुओं पर ब्लेड से कट मार कर ब्लू व्हेल की आकृति बनाने की कोशिश की थी।

ब्लू व्हेल गेम ने जिला शिमला के ठियोग के एक बच्चे की जान ले ली है। बच्चे के परिजनों का आरोप है कि ब्लू व्हेल गेम से उनके बच्चे की जान गई है।  बताया जा रहा है कि यह बच्चा मिस्त्री के मोबाइल फोन पर अकसर गेम खेलता था। हालांकि बच्चे की मौत को लेकर उसके परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज नहीं करवाया है। ब्लू व्हेल गेम का असर अब जिला शिमला में भी पहुंच चुका है।

बच्चे की पहचान देहा के गुरूकुल पब्लिक स्कूल के पांचवी कक्षा में पढ़ने वाला अमित कुमार (11) पुत्र श्याम नंद, गांव बागड़ी देहा के रूप में हुई है।

एसपी शिमला सौम्या सांबशिवन ने कहा कि अभी प्रथम चरण में मामले की जांच चल रही है। सुसाइड नोट बरामद हुआ है। आत्महत्या की स्पष्ट वजह छानबीन के बाद ही सामने आएगी। छात्र किसका मोबाइल इस्तेमाल कर रहा था यह कहना अभी मुश्किल है। व्लू व्हेल चैलेंज के पहलू पर भी छानबीन हो रही है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *