स्कूली बच्चों की सुरक्षा बारे आवश्यक दिशा-निर्देश

स्कूली बच्चों की सुरक्षा बारे आवश्यक दिशा-निर्देश

शिमला: रयान इंटरनेशनल स्कूल दिल्ली की घटना को मध्य नजर रखते हुए जिला के सभी स्कूलों में बाल योैन शोषण को रोकने व छोटे बच्चों की सुरक्षा के लिए आज उपायुक्त शिमला रोहन चंद ठाकुर ने सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के प्रधानाचार्य व स्कूल प्रबंधन के साथ बैठक आयोजित की। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन बाल यौन शोषण के बारे में सभी विद्यार्थियों को जागरूक करने के विशेष अभियान चलाएं। उन्होंने अभिभावकों व अध्यापकों से विशेषकर सात वर्ष तक के विद्यार्थियों को बाल यौन शोषण के बारे में शिक्षित करने को कहा।

रोहन चंद ठाकुर ने कहा कि सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के शौचालय के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन द्वारा सात वर्ष तक के बच्चों को शौचालय अकेले नहीं भेजने की व्यवस्था की जानी चाहिए।  उन्होंने कहा कि गैर सरकारी स्कूलों में अध्यापकों तथा अन्य सभी कर्मचारियों की नियुक्ति से पूर्व पुलिस द्वारा उनके चरित्र की जांच पड़ताल अवश्य करवाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अंशकालिक कर्मचारियों के आधार कार्ड व अन्य आवश्यक दस्तावेज लेना भी सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन बाल यौन शोषण के बारे में सभी विद्यार्थियों को जागरूक करने के विशेष अभियान चलाएं।  इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी लॉ एंड आर्डर हेमिस नेगी, प्रोटोकाल सुनील शर्मा, उपमंडलाधिकारी, उपनिदेशक शिक्षा तथा गैर सरकारी स्कूलों के प्रधानाचार्य व स्कूल प्रबंधक उपस्थित थे।

 

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *