छात्रों ने सीखे गुणवत्ता व ग्राहक सेवा के गुर

छात्रों ने सीखे गुणवत्ता व ग्राहक सेवा के गुर

सुनील थवानी प्रबंधन के क्षेत्र में जाना पहचाना नाम

सुनील थवानी प्रबंधन के क्षेत्र में जाना पहचाना नाम

सोलन: विद्यार्थियों के सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास हेतु शूलिनी विश्वविद्यालय द्वारा शुरू की गई पहल के तहत योगानन्दा गुरु लेक्चर सीरीज़ के अंतर्गत प्रख्यात प्रबंधन विशेषज्ञ सुनील थवानी छात्रों से रूबरू हुए। इस लेक्चर सीरिज़ में विद्यार्थियों से रूबरू होने के लिए समाज के विभिन्न क्षेत्रों से दिग्गज और श्रेष्ठ हस्तियों को शूलिनी विश्वविद्यालय आमंत्रित किया जाता है।

अपने व्याख्यान में सुनील थवानी ने विश्वविद्यालय के एमबीए के छात्रों को ‘गुणवत्ता, ग्राहक सेवा और प्रक्रिया प्रबंधन’ विषय पर संबोधित किया। उन्होनें मौजूद छात्रों को गुणवत्ता और उसे बनाए रखने का महत्व बताया। बाद में उन्होनें शूलिनी विवि के स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइन्स अँड लिब्रल आर्ट्स के संकाय से भी मुलाकात की।

सुनील थवानी प्रबंधन के क्षेत्र में जाना पहचाना नाम है और पिछले 30 सालों से सरकारी, बैंकिंग, रियल एस्टेट,  पेट्रोलियम, प्रबंधन जैसे उद्योगों में टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट, व्यवसाय उत्कृष्टता, कॉर्पोरेट प्रशासन, रणनीति परिनियोजन, पुनर्रचना, सिक्स-सिग्मा जैसे क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वर्तमान में सुनील थवानी प्रसिद्ध अमेरिकन सोसाइटी फॉर क्वालिटी में बोर्ड के सदस्य हैं। इसके अलावा वह प्रतिष्ठित लैनकास्टर मेडल(मध्य पूर्व) के 2015 में विजेता रहे और “बिजनेस एक्स्लेन्स अवार्ड्स – रणनीतियाँ जीतने के लिए” पुस्तक के लेखक भी है। वह वर्ष 2003 से 2013 तक दुबई गुणवत्ता पुरस्कार और शेख खलीफा उत्कृष्टता पुरस्कार के जूरी में भी रहे।

उन्होनें दुबई गुणवत्ता पुरस्कार/ ईएफक्यूएम, इंटरनेशनल मैनेजमेंट सिस्टम स्टैंडर्डस, सर्विस एक्सीलेंस मॉडल, ओईसीडी प्रिंसिपल्स ऑफ गवर्नेंस आदि जैसी गुणवत्ता और उत्कृष्टता के ढांचे को लागू करने में नेतृत्व प्रदान किया है। उन्होंने कई संगठनों को प्रतिष्ठित क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों जैसे संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा पुरस्कार, विश्व शिखर सम्मेलन गठबंधन, शेख खलीफा उत्कृष्टता पुरस्कार-स्वर्ण, दुबई गुणवत्ता पुरस्कार, एमआरएम व्यापार पुरस्कार आदि में भाग लेने और जीतने में मदद की है।

इस अवसर पर शूलिनी विवि के ट्रस्टी आशीष खोसला ने कहा कि सुनील थवानी जैसी व्यक्तित्व वाले इंसान से एमबीए के छात्रों को निश्चित रूप से गुणवत्ता और ग्राहक सेवा की बारीकियों को सीखने में मदद मिलेगी। इस मौके पर विश्वविद्यालय के वरिष्ठ सदस्यों के अलावा, संकाय मौजूद रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *