हिमाचल में हो रहा है तीव्र औद्योगिक विकासः वीरभद्र सिंह

हिमाचल में हो रहा है तीव्र औद्योगिक विकासः वीरभद्र सिंह

  • औद्योगिक क्षेत्र की सुविधा के लिए उद्योग विभाग की वैबसाईट का लोकार्पण
औद्योगिक क्षेत्र की सुविधा के लिए उद्योग विभाग की वैबसाईट का लोकार्पण

औद्योगिक क्षेत्र की सुविधा के लिए उद्योग विभाग की वैबसाईट का लोकार्पण

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने यहां शुक्रवार सायं आयोजित एक समारोह में उद्योग विभाग द्वारा औद्योगिक क्षेत्र को सुविधा प्रदान करने के लिए विकसित की गई वैबसाईट का लोकार्पण किया। उन्होंने पीएचडी चैम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट ‘राईजिंग हिमाचल प्रदेशः ए माऊंटेन ऑपर्चुनिटीज’ को भी जारी किया।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने औद्योगिक क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं तथा राज्य में निवेश के लिए बड़ी संख्या में उद्यमियों को आकर्षित करने में सफलता हासिल की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कलस्टर आधारित दृष्टिकोण अपना रही है और फार्मा, फूड प्रोसेसिंग तथा गत्ते की पेटियों सहित पांच औद्योगिक समूहों की स्थापना की जा रही है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने उद्योगपतियों को लाभान्वित करने के लिए प्रक्रियाओं तथा मापदण्डों के सरलीकरण के अलावा उनके लिए अनेक प्रोत्साहनों की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने उद्योग क्षेत्र से अपील की कि औद्योगिक क्षेत्र में निवेश के अलावा उन्हें ऊर्जा, पर्यटन बागवानी, सूचना तथा बायो-टैक्नॉलाजी में भी निवेश के लिए आगे आना चाहिए, जहां निवेश की आपार संभावनाएं हैं। उन्होंने वैश्विक बाजार में प्रतिस्पर्धा के मद्देनज़र  उद्योगपतियों को अपने उत्पादों में गुणवत्ता सुनिश्चित बनाने पर बल दिया।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि आज राज्य में प्रति व्यक्ति आय 1,47,277 रुपये तक पहुंच गई है, जो राष्ट्रीय स्तर पर 93,293 रुपये है। इसी प्रकार राज्य ने 82.80 प्रतिशत साक्षारता दर को हासिल किया है, जो राष्ट्रीय औसत से कहीं अधिक है।

पीएचडी चैम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष गोपाल जीवाराजका ने राज्य सरकार से पर्यटन परियोजनाओं में निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए बेहतर कनेक्टिविटी तथा पैकेज जैसी गुणात्मक सुविधाएं प्रदान करने की दिशा में और कदम उठाने का आग्रह किया। विजन-2020 पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को विकास को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन, फूड प्रोसेसिंग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों तथा सूचना प्रौद्योगिकी जैसे विभिन्न क्षेत्रों में और अधिक विस्तार तथा व्यापार पर बल देना होगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *