एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर.एन मिश्र लीजन्‍ड पीएसयू शाइनिंग अवार्ड ग्रहण करते हुए

आर.एन मिश्र को लीजन्‍ड पीएसयू शाइनिंग अवार्ड से किया गया सम्‍म‍ानित

एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर.एन मिश्र लीजन्‍ड पीएसयू शाइनिंग अवार्ड ग्रहण करते हुए

शिमला: दि न्‍यूज इंक लीजंड पीएसयू शाईनिंग अवार्ड्स का मकसद भारतीय आर्थिक जगत में महत्‍वपूर्ण योगदान देने तथा भारत की आर्थिक तरक्‍की की रफ्तार बनाए रखने वालों का सम्‍मान करना है।  मैसर्स न्‍यूज इंक मीडिया एंड प्रोडक्‍शन (प्राईवेट) लिमिटेड ने सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के प्रशासन के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍टता को बढ़ावा देने के लिए ये अवार्ड शुरू किए हैं।  एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर.एन मिश्र को वर्ष 2014 के लिए लीजन्‍ड पीएसयू शाइनिंग अवार्ड से सम्‍म‍ानित किया गया ।  यह अवार्ड महामहिम राज्‍यपाल पंजाब एवं हरियाणा प्रो. कप्‍तान सिंह सोलंकी द्वारा नई दिल्‍ली में आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रदान किया गया ।  इस अवसर पर एसजेवीएन के निदेशक वित्‍त ए. एस. बिन्‍द्रा निगम के अन्‍य वरिष्‍ठ अ‍धिकारियों सहित उपस्थित थे ।
आर. एन. मिश्र ने बताया कि विस्‍तार एवं विविधीकरण के पथ पर अग्रसर एसजेवीएन महाराष्‍ट्र के अहमदनगर जिले में 47.6 मेगावाट की खिरवीरे पवन विद्युत परियोजना के साथ पहले ही पवन ऊर्जा के क्षेत्र में उतर चुका है।  इसके अतिरिक्‍त 1320 मेगावाट की बक्‍सर ताप विद्युत परियोजना का काम तीव्र गति से चल रहा है ।
उन्‍होंने यह भी बताया कि एसजेवीएन की हिमाचल प्रदेश में 412 मेगावाट की रामपुर जल विद्युत परियोजना ने पिछले वित्‍तीय वर्ष से विद्युत उत्‍पादन शुरू कर दिया है ।  सतलुज नदी पर अवस्थित रामपुर जल विद्युत परियोजना 1500 मेगावाट नाथपा झाकड़ी जल विद्युत स्‍टेशन अपस्‍ट्रीम का द्वितीय चरण निर्माण है। प्रत्‍येक 68.67 मेगावाट की छः वर्टिकल एक्सिस फ्रांसिस टरबाईनों से युक्‍त यह परियोजना कंपनी की सर्वोत्‍कृष्‍ट नाथपा झाकड़ी जल विद्युत स्‍टेशन के अनुक्रम में प्रचालन कर रही है ।  412 मेगावाट रामपुर जल विद्युत परियोजना से उत्‍पादित बिजली उत्‍तरी ग्रिड के राज्‍यों अर्थात हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्‍मू एवं कश्‍मीर, पंजाब, राजस्‍थान, उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखण्‍ड, चंडीगढ़ एवं दिल्‍ली में सप्‍लाई की जा रही है ।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *