शूलिनी विवि में सुखमंच थिएटर द्वारा 'कोर्ट मार्शल' प्रदर्शित

शूलिनी विवि में सुखमंच थिएटर द्वारा ‘कोर्ट मार्शल’ प्रदर्शित

जाति विभाजन विषय पर आधारित कोर्ट मार्शल एक अत्यंत ही लोकप्रिय नाटक है

जाति विभाजन विषय पर आधारित कोर्ट मार्शल एक अत्यंत ही लोकप्रिय नाटक है

सोलन: गुरुवार रात शूलिनी विश्वविद्यालय के छात्रों और संकाय के लिए बहुत ही ख़ास रही। दिल्ली के थिएटर ग्रुप, सुखमंच, ने अपने नाटक ‘कोर्ट मार्शल’ के जरिए अपने अभिनय का पूर्ण प्रदर्शन किया। यह नाटक लोकप्रिय भारतीय नाटककार स्वदेश दिपक द्वारा लिखित है और इसका डिजाइन और निदेशन प्रसिद्ध थियेटर कलाकार शिल्पी मारवाहा द्वारा किया गया है। इस मौके पर सोलन उपायुक्त राकेश कंवर, मुख्य अतिथि रहे।

गुरुवार को दिन भर से ही छात्रों के बीच नाटक के लिए जबरदस्त उत्साह था और उन्होनें निर्धारित समय से घंटो पहले ही कार्यक्रम स्थल को भर दिया था। सुखमंच की 27 सदस्यीय टीम ने अपने प्रदर्शन के जरिये मानव भावनाओं की एक विशाल सरणी प्रदर्शित की। दर्शकों के ज़्यादातर युवा होने के बावजूद, इस संजीदा विषय पर आधारित नाटक की छात्रों ने खूब सराहना की। मुख्य अतिथि ने सुखमंच के कलाकारों को सम्मानित किया।

जाति विभाजन विषय पर आधारित कोर्ट मार्शल एक अत्यंत ही लोकप्रिय नाटक है जिसे वर्ष 1991 में प्रकाशित किया गया था। इसकी कहानी एक निचली जाति के सेना जवान राम चंद्र पर आधारित है, जिसे ऊंची जाति के अपने एक अधिकारी की हत्या और दूसरे को चोट पहुंचाने के लिए मुकदमे का सामना करना पड़ता है।

स्वदेश दीपक एक लोकप्रिय भारतीय नाटककार, उपन्यासकार और लघु कथा लेखक हैं। दीपक 1960 के दशक से हिंदी साहित्य क्षेत्र में सक्रिय रहे हैं और उनका काम भारत के

कार्यक्रम में सोलन उपायुक्त राकेश कंवर ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत

कार्यक्रम में सोलन उपायुक्त राकेश कंवर ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत

सभी प्रमुख साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित हुआ है। उनके 15 से अधिक प्रकाशित शीर्षक हैं जिनमें से कई तो नाटक और टीवी कार्यक्रमों के माध्यम से चर्चित भी हो चुके हैं।

  • शिल्पी मारवाहा और सुखमंच थिएटर ग्रुप

शिल्पी मारवाहा दिल्ली के थिएटर परिदृश्य में प्रसिद्ध नामों में से एक है। शिल्पी ने स्ट्रीट प्ले के जरिये भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलनों में अपनी सामाजिक सक्रियता के लिए प्रमुखता हासिल की थी। सुखमंच, उनकी दिवंगत मां की स्मृति और नाट्य कला को बढ़ावा देने के उनके प्रयास में शुरू किया गया थिएटर समूह है। सुखमंच के कुछ मुख्य प्रदर्शन- ‘दस्तक’, ‘ए वुमन अलोन’, ‘रामकली’ आदि है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *