स्क्रब टायफस के लक्षण : तेज बुखार, सिर दर्द, लाल आंखे, निमोनिया व दिमागी बुखार

स्क्रब टायफस के लक्षण : तेज बुखार, सिर दर्द, लाल आंखे, निमोनिया व दिमागी बुखार

  • स्क्रब टायफस से जन जागरूकता के लिए अभियान

शिमला: उपायुक्त शिमला रोहन चंद ठाकुर ने आज यहां बताया कि जिला शिमला प्रशासन ने स्क्रब टायफस बीमारी से बचाव के लिए व्यापक जन जागरूकता अभियान आरंभ किया हैं।

जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में स्क्रब टायफस से बचाव से संबंधित पंपलेट व लीफलेट उपलब्ध करवाए गए हैं, जिन्हें लोगों में वितरित किया जा रहा है। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को भी लोगों को स्क्रब टायफस के बारे में जागरूक करने के निर्देश दिए गए हैं। सभी स्वास्थ्य संस्थानों में इस बीमारी के ईलाज के लिए दवाईयां प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं। प्रशासन द्वारा अस्पतालों को इससे संबंधित सभी कदम समयबद्ध उठाने के निर्देश दिए गए हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी शिमला डॉ. नीरज मित्तल ने बताया कि स्क्रब टायफस बीमारी एक माइट के काटने पर बैक्टीरिया से होती है, इसका इंक्यूबेशन पीरियड एक से तीन सप्ताह का होता है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को तेज बुखार, सिर दर्द, लाल आंखे, निमोनिया और दिमागी बुखार हो सकता है। शरीर पर रेसिज हो जाते हैं। रक्त की जांच से इस बीमारी का पता लगाया जाता है। इस बीमारी से बचाव के लिए उन्होंने लोगों को घास या जंगल आदि क्षेत्रों में जाने पर शरीर को ढककर रखने का परामर्श दिया है। इसके ईलाज के लिए दवाईयां सभी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध करवाई गई हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *