चिन्हित क्षेत्रों पर जुलूस, रैली, धरने, नारा लगाने व शस्त्र ले जाने पर प्रतिबंध

शिमला बंद, जगह-जगह चक्का जाम आवाजाही ठप्प

  • भाजपा, माकपा और दूसरे संगठनों ने साथ मिलकर किया शिमला बंद

शिमला: कोटखाई गुड़िया मर्डर मामले में पुलिस हिरासत में बीते कल आरोपी की हत्या के बाद शिमला में लोगों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते लोगों ने भाजपा, माकपा और दूसरे संगठनों के साथ मिलकर शिमला बंद कर दिया है। शिमला में जगह-जगह चक्का जाम हो रहा है, दुकानें बंद हैं। भाजपा ने विक्ट्री टनल व संजौली ढली टनल के पास चक्का जाम कर दिया है। इस कारण आवाजाही ठप्प हो गई है। सड़कों पर आज निजी बसें भी नहीं चल रही और लोग अपने गंतव्य की ओर पैदल आ-जा रहे हैं। शिमला की सड़कों पर लंबा जाम लग गया है।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सचिवालय का भी घेराव कर लिया है। हालांकि इस दौरान पुलिस और जनता के बीच हल्की धक्का-मुक्की और पथराव का भी समाचार मिला है। लेकिन पुलिस काफी संयम बरतते हुए प्रदर्शनकारियों को रोके हुए है। सचिवालय के बाहर भाजपा के कार्यकर्ता प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं, अब पुलिस मुख्यालय के बाहर लोगों का जमावड़ा लग गया है। यहां हालात तनावपूर्ण हो गए हैं। यहां अतिरिक्त पुलिस फोर्स भी भेजी जा रही है। मगर चक्का जाम होने से पुलिस मौके पर नहीं पहुंच पा रही है। भाजपा के धरने प्रदर्शन में महिलाएं और कॉलेज के छात्र भी शामिल हैं।

संजौली की तरफ से बीजेपी कार्यकर्ता मुख्य मार्ग से छोटा शिमला की ओर जा रहे हैं। पुलिस ने प्रदेश सचिवालय के सारे गेट बंद कर दिए हैं और सचिवालय के अंदर किसी को आने नहीं दिया जा रहा।

गुड़िया मामले को लेकर भाजपा ने पिछले कल ही शिमला बंद का ऐलान कर दिया था। जिसका असर शिमला में साफ दिखाई दे रहा है। शिमला की सभी दुकानें पूरी तरह बंद हैं। शिमला में जगह-जगह धरना प्रदर्शन और चक्का जाम होने की वजह से आवाजाही की रफ्तार थम सी गई है। शिमला के मालरोड पर भी धरना प्रदर्शन चल रहा है। हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी पुलिस रिपोर्टिंग रूम के बाहर जमा होकर नारेबाजी कर रहे हैं। शिमला के ढली, खलीणी, विक्ट्री टनल, संजौली, टुटू और बालूगंज जैसे एरिया में सुबह से ही चक्का जाम किया हुआ है।

दूसरी ओर  भाजपा ने मालरोड और छोटा शिमला में धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुतले भी जलाए।

ठियोग में भारी बारिश के बावजूद प्रदर्शनकारी अड़े हुए हैं। इंडो-तिब्बत हाईवे तकरीबन 2 घंटे से बंद पड़ा हुआ है। भाजपा और वामपंथी संगठनों के कार्यकर्ता नारेबाजी कर रहे हैं। एंबूलेंस और सेना के वाहनों को रास्ता दिया जा रहा है।

  • मुख्यमंत्री की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील
मुख्यमंत्री की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील

मुख्यमंत्री की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने प्रदेश वासियों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने लोगों से बंद के दौरान धैर्य व संयम बनाए रखने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान न पहुंचाने का आग्रह किया है। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से अपील की है कि इस संवेदनशील समय में शांति बनाए रखें। उन्होंने कहा है कि गुड़िया को कोर्ट से न्याय जरूर मिलेगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *