हिरासत में आरोपी की हत्या के बाद कोटखाई में हालात बेकाबू, थाने में लगाई आग व फूंकी गाडियां

हिरासत में आरोपी की हत्या के बाद कोटखाई में हालात बेकाबू, थाने में लगाई आग व फूंकी गाडियां

  • बिगड़ते हालात को देखते हुए मुख्यमंत्री मंडी दौरा रद्द कर लौटे शिमला
  • राज्यपाल ने सरकार से दो दिन के भीतर माँगा जवाब

शिमला: कोटखाई गुड़िया मर्डर मामले में जहां मामले की जांच को लेकर पुलिस पर लोगों द्वारा निशाना साधा जा रहा है वहीं अब कोटखाई थाने में हुए मर्डर से पुलिस को काफी दिक्कतें खड़ी हो गईं हैं। जन आक्रोश इस कदर भड़का हुआ है कि आरोपी की हत्या की खबर मिलने के बाद ही लोग कोटखाई थाने के बाहर एकत्रित होना शुरू हो गए और नारेबाजी करने लगे। लोगों का गुस्सा बेकाबू हो गया और थाने पर लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। लोगों ने न सिर्फ थाने में पत्थर मारे बल्कि पुलिस कर्मियों पर भी पत्थर बरसाए। पथराव में दो पुलिस कर्मियों को चोटें आई हैं। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए तीन राउंड फायर भी किए। इसके उपरान्त गुस्साए लोगों ने कोटखाई थाने व गाड़ियों में आग लगा दी।

बिगड़ते हालात को देखते हुए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह  अपना मंडी दौरा रद्द कर वापस शिमला लौट गए।  उधर राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने सरकार से दो दिन के भीतर कोटखाई गुड़िया मर्डर मामले में जवाब माँगा है।

वहीं ताजा समाचार के अनुसार कोटखाई का गुस्सा ठियोग तक पहुंच गया है। यहां भी कोटखाई केस के आरोपी के मर्डर के बाद लोग बड़ी तादाद में इकट्ठा हो गए हैं। लोगों ने पहले यहां पर पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की फिर थाने पर पत्थराव कर दिया। ठियोग में भी तनाव के हालात बने हुए हैं। इसके अलावा फागू में भी लोगों ने चक्का जाम कर दिया है। कोटखाई गुड़िया मर्डर मामले की जांच को लेकर शिमला के लोगों का गुस्सा इस कदर हावी हो गया है कि स्थिति को नियन्त्रण कर पाना पुलिस प्रशासन के लिए मुशिकल होता जा रहा है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *