नेपाल में आए भूकंप ने मचाई भीषण तबाही

नेपाल से हिंदुस्तान तक कांपी धरती, सैकड़ों लोगों की मौत

मोदी ने कहा कि नेपाल की पीड़ा हमारी पीड़ा, 870 से ज्यादा की मौत

नेपाल में आए भूकंप ने मचाई भीषण तबाही

नेपाल में 870 से ज्यादा लोगों की मौत,जबकि सैकड़ों लोग जख्मी

– पीएम के नेतृत्व में उच्चस्तरीय आपात बैठक खत्म, पीड़ितों को हरसंभव मदद देगी केंद्र सरकार।

-मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने उत्तरी भारत तथा पड़ोसी देश नेपाल में आज आए भूकम्प से हुए जानमाल के नुकसान पर शोक प्रकट किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस आपदा की घड़ी में प्रदेश के लोग उनके साथ हैं।

– प्रधानमंत्री निवास 7RCR में भूकंप को लेकर उच्चस्तरीय आपात बैठक शुरू, बैठक में राजनाथ सिंह और डॉ. हर्षवर्धन भी मौजूद।

– भारत में हेल्पलाइन नंबर है — +91 11 23014104

– नेपाल स्थित भारतीय दूतावास का हेल्पलाइन नंबर है — 00977-9851107021; 00977-9851135141

-नेपाल में कई मौतों की खबर, एनडीआरएफ की चार टीमें नेपाल के लिए रवाना।

-नेपाल के काठमांडू में मंदिर जमींदोज, मलबे को हटाया जा रहा है।

-पीएम मोदी ने दोपहर तीन बजे भूकंप पर आपात बैठक बुलाई है।

-एनडीआरएफ की टीम को अलर्ट पर रखा गया है।

-काठमांडू एयरपोर्ट की सभी उड़ानों को दिल्ली और कोलकाता भेज दिया गया है।

-नेपाल की राजधानी काठमांडू में कांठमांडू एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है।

एजेंसी

नई दिल्ली : नेपाल में शनिवार को आए भूकंप ने भीषण तबाही मचाई है। रिक्टर पैमाने पर आंके गए 7.8 तीव्रता के भूकंप से अब तक नेपाल में 870 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सैकड़ों लोग जख्मी हुए हैं। भूकंप से भारत में 34 लोगों के मारे जाने की खबर है। अकेले बिहार में 25 लोगों की मौत हो चुकी है। नेपाल में एनडीआरएफ की 10 से 15 टीमों को रवाना किया गया है।

-रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह नेपाल की जरूरतों के सिलसिले में अपने नेपाली समकक्ष के संपर्क में हैं। हमने विनाशकारी भूकंप के आलोक में नेपाल को सहायता पहुंचाने के लिए सारे संसाधन जुटाये हैं।

-ज्ञानपीठ पुरस्कार समारोह के मौके पर पीएम मोदी ने कहा-नेपाल की पीड़ा भारत की पीड़ा है। हर भारतीय नेपाल के साथ है।

-मोदी ने कहा कि नेपाल के पीएम से बात की है।

-मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भूकंप से बिहार में 25 लोगों की मौत होने की पुष्टि की है। 6 लोग सीतामढ़ी में, 6 लोग मोतीहारी में, 4 लोग पूर्वी चंपारण में, 3 लोग छपरा में और 2 लोग दरभंगा में मारे गए हैं। सुपौल में एक व्यक्ति की मौत होने की खबर है। यूपी में आठ लोग मारे गए हैं।

जबरदस्त भूकंप से थर्राया नेपाल और भारत

-भारतीय वायु सेना के हरक्यूलिस विमान से राहत सामग्री और एनडीआरएफ की टीमों को नेपाल भेजा जा रहा है।

-एएनआई के मुताबिक बाबा रामदेव ने बताया कि काठमांडू के टुंडी खेल मैदान में 2 लाख से ज्यादा लोगों ने शरण ले रखी है। लोग राहत एवं बचाव दल की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

-केंद्रीय गृह सचिव एलसी गोयल ने मीडिया को बताया कि भारत में भूकंप से अब तक 34 लोगों की जाने गई है। गोयल ने कहा कि गृह मंत्रालय प्रभावित राज्यों के साथ लगातार संपर्क में है।

पूरे उत्तर भारत में भूकंप के तेज झटके

-विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट में कहा, ‘नेपाल में भारतीय नागरिक काठमांडू स्थित हमारे उच्चायोग से संपर्क कर सकते हैं। हमारा उच्चायोग सभी तरह की मदद करेगा।’

-विदेश मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल को हर तरीके से मदद पहुंचाने का निर्देश दिया है।

-विदेस सचिव एस जयशंकर ने कहा कि काठमांडू में फंसे भारतीय वहां स्थित भारतीय उच्चायोग से संपर्क कर सकते हैं।

-विदेश मंत्रालय ने कहा है कि मंत्रालय में हमने हेल्पलाइन नंबर की व्यवस्था की है। लोग मंत्रालय की इमेल आईडी- “controlroom@mea.gov.in” का उपयोग कर सकते हैं। काठमांडू में ज्यादा तबाही मची है। भारतीय उच्चायोग की दीवार भी क्षतिग्रस्त हुई है। उच्चायोग के एक कर्मचारी की पत्नी इस हादसे का शिकार हुई है।

-विदेश सचिव ने बताया कि नेपाल में यात्रा कर रहे भारतीयों की संख्या के बारे में अभी आधिकारिक आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। नेपाल के लिए पानी, चिकित्सा सुविधाएं, राहत एवं बचाव कार्य उपकरण, टेंट्स, कंबल हवाई जहाज से रविवार को भेजे जाएंगे।

-विदेश सचिव ने बताकि हिंडन से एक एयरक्राफ्ट शीघ्र नेपाल रवाना होगा। इस विमान से चलित अस्पताल और एनडीआरएफ की अन्य तीन टीमों को भेजा जाएगा।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि नेपाल में आए भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित बिहार और उत्तर प्रदेश हुए हैं। राज्य मंत्री ने बताया कि बिहार में 15 लोगों की मौत हुई है जबकि 2 मौतें उत्तर प्रदेश में और एक मौत बंगाल में होने की खबर है। भूकंप से 37 लोग जख्मी हुए हैं। एनडीआरएफ की 10 टीमें नेपाल रवाना कर दी गई हैं।

-भूकंप का केंद्र नेपाल में पोखरा से करीब 75 किलोमीटर दूर लामजुम में था। पहला झटका आज सुबह 11.41 बजे और दूसरा 12.19 बजे महसूस किया गया। नेपाल की राजधानी काठमांडो में अनेक इमारतें ढह गईं, गढ्ढे बन गए और सड़कों पर दरारें आ गई। भूकंप के कारण पड़ोसी देश की राजधानी में लोग घबराकर अपने घरों और दफ्तरों से बाहर निकल आए।

-काठमांडो में वीडियो में ढहे मकान के मलबे से लोगों को बाहर निकालते दिखाया गया है। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने भूकंप की तीव्रता के बारे संशोधित आंकड़ा जारी किया है और इसे 7.9 बताया है। इससे पहले इस संस्थान ने भूकंप की तीव्रता 7.5 बतायी थी। भूकंप के झटके भारत के उत्तरी, पूर्वी और पूर्वोत्तर हिस्से में कई राज्यों में महसूस किये गये। भूकंप का झटका दिल्ली-एनसीआर में भी महसूस किया गया जो नेपाल की राजधानी काठमांडो से 1100 किलोमीटर दूर स्थित है।

भारतीय मौसम विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, भूकंप के झटके भारत के बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब सहित अनेक राज्यों में महसूस किये गए और इनका प्रभाव करीब एक से दो मिनट तक रहा। इसके कारण लोगों में अफरा-तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई और लोग अपने घरों और कार्यालयों से बाहर आ गए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए हैं और उन्होंने भूकंप के बाद बिहार, सिक्किम, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से बात की।

भूकंप के तुरंत बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्विट किया, ‘हम और जानकारी पता लगाने में जुटे हैं तथा देश और नेपाल में भूकंप प्रभावितों तक पहुंचने की दिशा में काम कर रहे हैं।’ प्रधानमंत्री कार्यालय ने बाद में ट्विट किया कि मोदी ने बिहार और सिक्किम के मुख्यमंत्रियों से बात की। पीएमओ ने ट्विट किया, ‘पीएम नरेन्द्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भूकंप के संबंध में बात की। भूकंप के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग से बात की।’ प्रधानमंत्री ने नेपाल के राष्ट्रपति राम बरन यादव से भी बात की।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *