गुड़िया मर्डर केस : जनता के आक्रोश भरे से आंदोलन के आगे झुकी सरकार, अब सीबीआई करेगी मामले की जांच

गुड़िया मर्डर केस : जनता के आक्रोश भरे आंदोलन के आगे झुकी सरकार, अब सीबीआई करेगी मामले की जांच

शिमला: शिमला के कोटखाई में गुड़िया मर्डर केस में दसवीं की छात्रा के साथ हुए गैंगरेप और हत्या मामले में अब हिमाचल सरकार ने जनता के उग्र आंदोलन को देखते हुए मामले की जांच सीबीआई से करवाने का फैसला लिया है। शिमला के ठियोग और कोटखाई के अलग-अलग स्‍थानों पर जनता ने उग्र आंदोलन और चक्का जाम कर वीरभद्र सरकार को यह फैसला लेने पर मजबूर कर दिया कि अब जांच सीबीआई द्वारा की जाएगी। आज ठियोग व कोटखाई में जनता के भारी आक्रोश ने पुलिस अफसरों की गाड़ियां फोड़ डाली और थाने पर पथराव किया गया। इनकी एक ही मांग थी कि मामले को सीबीआई को सौंपा जाए।

लोगों का कहना था कि पुलिस मामले के असली आरोपियों को बचाने में लगी हुई है। वहीं पुलिस ने इस मामले में अब तक छह आरोपियों को गिरफ्तार कर यह खुलासा किया है कि इनमें से पांच आरोपियों ने गैंगरेप और हत्या की वारदात को अंजाम दिया। इसमें कई अन्य युवकों के नाम भी उजागर होने की आंशका है। सीबीआई उन सबसे पूछताछ करेगी जो इस समय जनता के निशाने पर है।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कुल्लू दौरे से वापसी के बाद मामले की जानकारी लेकर इस मामले को सीबीआई को सौंपने का निर्णय लिया है। अब इस मामले की जांच सीबीआई करेगी। वहीं अब हिमाचल पुलिस की भी साख दांव पर लग सकती है। यदि दूसरे अन्य आरोपी सीबीआई जांच में दोषी पाए जाते हैं तो हिमाचल पुलिस पर भी सवालिया निशान खड़े हो सकते हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *