नौतोड़ के वितरण कार्य दो महीने के भीतर पूर्ण करने के निर्देश

नौतोड़ के वितरण कार्य दो महीने के भीतर पूर्ण करने के निर्देश

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज लाहौल-स्पीति जिले के उदयपुर में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार भूमिहीनों को नौतोड़ प्रदान कर रही है तथा इस कार्य के लिए कुछ समय के लिए छूट दी गई है। उन्होंने लाहौल-स्पीति के उपायुक्त को दो महीने के भीतर नौतोड़ के वितरण का कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस कार्य को मिशन के रूप में लिया जाना चाहिए और उनके दिशा-निर्देशों के अनुरूप पूरा किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में किसी भी तरह की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि तांदी में चन्द्र तथा भागा नदी के संगम की पवित्रता को हर हालत पर कायम रखा जाएगा। उन्होंने दोनों नदियों के संगम पर ‘तांदी संगम घाट’ के निर्माण के लिए 50 लाख रुपये की राशि की घोषणा की। उन्होंने कहा कि छोटी नदी मयाद तथा चन्द्रभागा नदी के संगम पर उदयपुर में अंतिम संस्कार व अनुष्ठान के लिए ‘उदयपुर घाट’ का निर्माण किया जाएगा। इस घाट के निर्माण के लिए उन्होंने पांच लाख रुपये की राशि प्रदान करने की घोषणा की।

तांदी में चन्द्र तथा भागा नदियों के संगम पर तांदी घाट में कुछ बाहरी लोगों द्वारा राख के विसर्जन तथा अनुष्ठान करवाने के दावों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह के कृत्य बिल्कुल भी सहन नहीं किए जाएंगे तथा इनमें लिप्त व्यक्तियों को ऐसा नही करना चाहिए। उन्होंने कहा कि तांदी घाट लाहौल-स्पीति के लोगों की धरोहर है तथा इस पर कोई भी बाहरी व्यक्ति अधिकार नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि लोगों को बुराई के खिलाफ एकजुट होकर लड़ना चाहिए। उन्होंने लोगों से विपक्ष के के बहकावे में न आने की अपील की ।

उन्होंने कहा कि लाहौल के लोगों को रोहतांग दर्रा पार करने के लिए बिना किसी परेशानी से परमिट दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि संसारी नाला तक जनरल रिजर्व इंजीनियरिंग फोर्स सड़क का कार्य बदहाल स्थिति में है। उन्होंने कहा कि वह निश्चित रूप से तांदी से संसारी नाला तक सड़क व कादू नाला से संसारी तक 58 किलोमीटर की सड़क के सुधार के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखेंगे।

उन्होंने उदयपुर उपमण्डल के कोराकी तथा रतोली में प्राथमिक पाठशालाओं को बंद न करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हालांकि उदयपुर में काफी निर्माण कार्य हो रहा है लेकिन यह सभी निर्माण कार्य योजनाबद्ध ढंग से होने चाहिए। उन्होंने प्रशासन को विकास कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा जब भी सत्ता में आई है तो उन्होंने खोले गए संस्थानों व विकास परियोजनाओं को बंद करने के प्रयास किए है। भाजपा यह भूल जाती है कि शैक्षणिक संस्थान व विकास परियोजनाएं कांग्रेस पार्टी द्वारा नहीं बल्कि सरकार द्वारा आरम्भ की जाती है। उन्होंने कहा कि भाजपा को इस तरह के कार्य से परहेज करना चाहिए।

इसके उपरांत मुख्यमंत्री ने 3.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले चैतिंग पुल की आधारशिला रखी। इसके अतिरिक्त दो पंचायतों के 21 गांवों की आबादी को लाभान्वित करने के लिए 9.33 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली 11 किलोमीटर खानदीप-सुगनाम-तांदी फ्लो सिंचाई योजना की आधारशिला रखी। इस योजना से 2200 बीघा भूमि की सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी।

उन्होंने 4.35 लाख रुपये की लागत से नालदा को जोड़ने वाले वाहन योग्य पुल का उद्घाटन किया। इस पुल से गांवों वालों अपनी फसल व सब्जियां को मण्डी तक पहुंचाने में सुविधा प्राप्त होगी।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *