प्रदेश सरकार की बेरोजगारी भत्ता योजना का लाभ लेने के ये हैं नियम..

प्रदेश मंत्रिमंडल निर्णय, आउटसोर्स कर्मियों के लिए बनेंगे नीति निर्देश

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की अध्यक्षता में आज यहां आयोजित मंत्रिमण्डल की बैठक में आउटसोर्स कर्मियों को आशा प्रदान करते हुए सेवा प्रदात्ताओं के माध्यम से आउटसोर्स आधार पर तैनात आउटसोर्स कर्मियों की कार्य स्थिति को सुरक्षा प्रदान करने के लिए नीति निर्देश बनाने का निर्णय लिया गया।  मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मंत्रिमण्डल की बैठक की अध्यक्षता की। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने बजट सत्र 2017-18 में विधानसभा सदन में आउटसोर्स कर्मियों के लिए नीति तैयार करने की घोषणा के संदर्भ में यह निर्णय लिया गया है।

मंत्रिमण्डल ने पंचायती राज विभाग में पंचायत सहायकों के 75 पद भरने के निर्णय के अतिरिक्त 31 मार्च, 2017 को अनुबंध आधार पर 3 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण करने वाले 533 पंचायत सचिवों को नियमित करने का निर्णय लिया गया। बैठक में 31 मार्च, 2017 को तीन साल का कार्यकाल पूर्ण करने वाले 179 पंचायत सहायकों के पदनाम परिवर्तित कर उन्हें अनुबंध आधार पर पंचायत सचिव बनाने का भी निर्णय लिया गया।

बैठक में युद्ध विधवाओं के बेटियों की वित्तीय सहायता 15000 रुपये से बढ़ाकर 50000 रुपये करने तथा एक्शन या ऑपरेशन के दौरान शहीद हुए सेना तथा अर्धसैनिक बलों में के आश्रितों की अनुग्रह राशि में भी वृद्धि करने का निर्णय लिया गया। सेना तथा अर्ध-सैनिक बलों में युद्ध में शहीद होने पर 20 लाख रुपये, घायल होने पर 5 लाख रुपये तथा 50 प्रतिशत या इससे अधिक रूप से विकलांग होने की स्थिति में 2.50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान करने का निर्णय लिया गया।

  • मंत्रिमण्डल ने मुख्यमंत्री की बजट घोषणाओं को पूर्ण करते हुए पदों के सृजन सहित परवाणु के अंबोटा, बरोटीवाला, पावंटा साहिब के सतौन, गगरेट तथा भोरंज में नए ईटीओ सर्कल खोलने को स्वीकृति प्रदान की।
  • मंत्रिमण्डल ने राज्य सरकार के कर्मियों तथा पेंशनभोगियों को उनके विकल्प के अनुसार स्थाई चिकित्सा भत्ते को 1 जून, 2017 से 350 रुपये से बढ़ाकर 400 रुपये प्रति माह करने को अपनी स्वीकृति प्रदान की। एक अनुमान के अनुसार प्रदेश में 51 हजार कर्मी तथा 29 हजार पेंशनभोगी हैं। इस निर्णय से राज्यकोष पर वार्षिक 4.80 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा।

पदों को भरने/सृजित करने के निर्णय

  • मंत्रिमण्डल ने कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती से जेबीटी के लिये निर्धारित 15 प्रतिशत पदोन्नति कोटे से टीजीटी (मेडिकल) के 348 रिक्त पद भरने की स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में बिलासपुर जिला के बंदला स्थित हाइड्रो इंजीनियरिंग कॉलेज में अध्यापन, तकनीकी तथा मिनिस्ट्रियल्र स्टॉफ के 125 पद सृजित करने व भरने को स्वीकृति दी। इसके अतिरिक्त, सोसायटी को अन्य आवश्यक पदों को आउटसोर्स आधार पर भरने की भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग में अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती से कनिष्ठ अभियंता (सिविल) के 57 पद तथा कनिष्ठ अभियंता (मैकेनिकल) के तीन पद भरने को भी स्वीकृति दी।
  • बैठक में स्वास्थ्य विभाग में डेंटल मैकेनिकस् के 50 पद भरने को भी स्वीकृति दी गई।
  • बैठक में मत्स्य पालन विभाग में अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती से विभिन्न श्रेणियों के 28 पद भरने की स्वीकृति भी प्रदान की गई।
  • स्वास्थ्य सुरक्षा तथा विनियमन विभाग में अनुबंध आधार पर खाद्य् सुरक्षा अधिकारी के 10 पद सृजित करने की भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • बैठक में अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती कोटे से बाल विकास परियोजना अधिकारी के 4 पद भरने की भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग में कार्यकारी अभियंता (सिविल) में प्रतिनियुक्ति पर आरक्षित 2 पद सृजित करने को भी स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में जिला ऊना के राजकीय डिग्री कॉलेज दौलतपुर चौक में कॉमर्स में सहायक प्रोफेसर के दो पद, अधीक्षक ग्रेड-2 का एक पद तथा वरिष्ठ सहायक का एक पद सृजित करने की स्वीकृति प्रदान की।
  • मंत्रिमण्डल ने वन विभाग के वन्यप्राणी विंग में नियुक्ति के लिए पशु पालन विभाग के कैडर को समाहित करते हुए पशु चिकित्सा अधिकारी के नौ पद तथा वैटनरी फार्मासिस्ट के नौ पद सृजित करने की स्वीकृति भी प्रदान की।
  • बैठक में सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग में अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती के माध्यम से तहसील कल्याण अधिकारी के चार रिक्त पद भरने को भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिण्डल ने उद्योग विभाग में अनुबंध आधार पर प्रसार अधिकारी (उद्योग) के दो रिक्त पद भरने की भी स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में नगर नियोजन विभाग में कम्प्यूटर ऑपरेटर का एक पद तथा कनिष्ठ कार्यालय सहायक के पांच पद भरने को भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने हिप्पा में अनुबंध आधार पर सीधी भर्ती के माध्यम से आशुटंककों के दो पद भरने की भी स्वीकृति प्रदान की।
  • बैठक में डॉ.वाई.एस.परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी (सोलन) में सहायक वैज्ञानिक/समानांतर (ऐन्टोमोलॉजी) के दो पद भरने की भी स्वीकृति प्रदान की गई।
  • मंत्रिमण्डल ने कांगड़ा जिला के राजीव गांधी राजकीय स्नातकोत्तर आयुर्वेदिक कालेज तथा अस्पताल पपरोला के रोग-निदान, स्वस्थीवृता तथा पंचकर्मा सहित तीनों विभागों में रीडर के एक-एक पद को प्रोफैसर के पद पर स्तरोन्न्त करने को भी स्वीकृति प्रदान की।

Pages: 1 2

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *