साहसिक पर्यटन क्षमताओं के दोहन में यह अभियान होगा कारगर : मुख्य सचिव

हिमाचल पर्यटन व भारतीय वायुसेना का संयुक्त साहसिक अभियान शुरू, साहसिक पर्यटन क्षमताओं के दोहन में यह अभियान होगा कारगर : मुख्य सचिव

  • पर्यटन विभाग द्वारा आने वाले दिनों में विभागीय होटलों में साहसिक पर्यटन गतिविधियों के लिए पैकेज प्रदान करने पर भी विचार : दिनेश मल्होत्रा

 

पर्यटन विभाग द्वारा आने वाले दिनों में विभागीय होटलों में साहसिक पर्यटन गतिविधियों के लिए पैकेज प्रदान करने पर भी विचार : दिनेश मल्होत्रा

पर्यटन विभाग द्वारा आने वाले दिनों में विभागीय होटलों में साहसिक पर्यटन गतिविधियों के लिए पैकेज प्रदान करने पर भी विचार : दिनेश मल्होत्रा

शिमला: प्रदेश में साहसिक पर्यटन की अपार सम्भावनाओं को उजागर करने के उद्देश्य से यह अभियान अत्यंत कारगर साबित होगा। यह जानकारी आज मुख्य सचिव, हिमाचल प्रदेश सरकार वी.सी.फारका ने हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम व भारतीय वायु सेना द्वारा आयोजित संयुक्त साहसिक अभियान के दौरान माउंटेन बाईकिंग दल को ऐतिहासिक रिज मैदान से रवाना करने के बाद अपने सम्बोधन में दी।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में पर्यटन साहसिक पर्यटन की अत्यधिक क्षमता है। उन्होंने बताया कि देश विदेश से आने वाले पर्यटकों को सैर सपाटे के अतिरिक्त साहसिक पर्यटन गतिविधियों से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। युवाओं को साहसिक पर्यटन जिसमें रिवर राफिटंग, ट्रेकिंग, कैम्पिगं, पैरा ग्लाईडिंग व पैरा ड्रापिंग, माउंटेन वाईकिंग व स्कींग शामिल है, के लिए वातावरण निर्माण कर आवश्यक सुविधाएं प्रदान कर आकर्षित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि छः दिवसीय इस अभियान में आज जुब्बड़हटटी में पैरा ड्रॉपिंग और माउंटेन बाईकिंग रैली का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि इस अभियान की सफलता के बाद पर्यटन विभाग व स्थानीय संस्था के सहयोग से रोहतांग में मोटर सफारी, क्रॉस कंट्ररी रनिंग व साईकलिंग इंवेट का आयोजन किया जाएगा।

14 जून को बिलिंग में पैरा ग्लाईडिंग इवेंटट का आयोजन

14 जून को बिलिंग में पैरा ग्लाईडिंग इवेंटट का आयोजन

पर्यटन विभाग के आयुक्त एवं प्रबंध निदेशक दिनेश मल्होत्रा ने बताया कि इस अभियान में भारतीय वायु सेना के 15 अधिकारियों के साथ साथ स्थानीय साईकिल एसोसियेशन के सात युवा भाग ले रहे हैं।यह माउटेन वाईकिंग नालदेहरा होती हुई तत्तापानी पहुंचेगी । 14 जून को बिलिंग में पैरा ग्लाईडिंग इवेंटट का आयोजन किया जाएगा। जबकि 15 व 16 जून को मनाली के ब्यास कुंड में ट्रेकिंग व कैम्पिंग कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। 17 जून को कुल्लू के पीरडी में रिवर रॉफटिंग शिविर का आयोजन किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पर्यटन विभाग द्वारा आने वाले दिनों में विभागीय होटलों में साहसिक पर्यटन गतिविधियों के लिए पैकेज प्रदान करने पर भी विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि देश विदेश के पर्यटक प्रदेश की नैसर्गिक सुन्दरता के साथ-साथ साहसिक पर्यटन की क्षमताओं का भी लाभ उठा सके इस दिशा में विभाग द्वारा सक्रियता के साथ गंभीर प्रयास किए जा रहे है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *