सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर कांग्रेस पक्ष में करें प्रचार : वीरभद्र

रोहडू के लिए परिवहन निगम की 10 नई बसें, दिल्ली के लिए वॉल्वो सेवा

  • मुख्यमंत्री ने रोहडू में रखी 10.24 करोड़ के विकासात्मक कार्यों की आधारशिलाएं
  • विकास कार्यों को समयबद्ध पूरा करने के निर्देशः मुख्यमंत्री

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज शिमला जिला के रोहडू विधानसभा क्षेत्र में 10.24 करोड़ रुपये की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं। मुख्यमंत्री ने कुटारा तथा बछूंछ में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि सभी विकासात्मक कार्यों को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा कर लिया जाएगा ताकि जनता को इनका समुचित लाभ प्राप्त हो सके।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि रोहडू घाटी प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण है तथा क्षेत्र के प्रत्येक भाग में अद्भुत नजारे हैं। उन्होंने कहा कि रोहडू के आंतरिक व अनछुए भागों की ओर पर्यटकों का ध्यान आकर्षित करने के लिए घाटी की अधोसंरचना को सुदृढ़ किया जाएगा। इस विधानसभा क्षेत्र के आंतरिक व भागों तक पहुंचने के लिए 10 नई बसों की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अतिरिक्त, हिमाचल पथ परिवहन निगम द्वारा रोहडू से नई दिल्ली के लिए लग्जरी वाल्वो सेवा आरम्भ की जाएगी।

उन्होंने कहा कि रोहडू क्षेत्र के 25 गांवों की 5000 की आबादी को जलापूर्ति सुविधा प्रदान करने के लिए 4 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित नई जलापूर्ति योजना भी क्रियाशील हो गई है।

मुख्यमंत्री ने कुटारा में 57.59 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पशु चिकित्सालय की आधारशिला रखी। उन्होंने 1.36 करोड़ से निर्मित होने वाली उठाऊ पेयजल योजना गावना, 89 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ पेयजल योजना कन्दरोड़ा/खंगतेरी, 1.07 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भलूण के भवन तथा 1.75 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ पेयजल योजना भगनोली की आधारशिलाएं रखीं।

वीरभद्र सिंह ने 2.66 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, गंगटोली के खेल छात्रावास (लड़कों) तथा 1.94 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय कन्या पॉलीटैक्निकल कालेज रोहडू के छात्रावास की आधारशिलाएं रखीं।  मुख्यमंत्री ने कुटारा में लोक निर्माण विश्राम गृह की घोषणा भी की। कुटारा से रोहडू के मार्ग में गावना, नोई, दरकोट, झालटू, खुड़सु, करालश तथा ब्रसाली में भारी संख्या में लोगों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा संबंधित क्षेत्रों की मांगों से उन्हें अवगत करवाया।

मुख्यमंत्री ने पेयजल आपूर्ति योजनाओं का सुचारू संचालन सुनिश्चित बनाने  के लिए सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश में पेयजल आपूर्ति योजनाओं के कार्य में किसी भी तरह की कोताही बरतने पर विभाग के कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार ने पेयजल आपूर्ति योजनाओं के उचित ढंग से कार्य करने हेतु धनराशि तथा बजट का पर्याप्त प्रावधान किया है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *