वित्त वर्ष 2018-19 की वार्षिक GST रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ी...

हिमाचल विधानसभा में “जीएसटी विधेयक” सर्वसम्मति से हुआ पारित

शिमला: हिमाचल प्रदेश माल और सेवा कर विधेयक 2017 (जीएसटी बिल) शनिवार को हिमाचल विधानसभा में पारित हो गया है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की ओर से ये विधेयक सदन में रखा गया। विधानसभा के पटल पर रखने के बाद पक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने इस पर कुछ देर चर्चा की, उसके बाद इसे पास कर दिया गया। सभी दलों ने इसे समर्थन देकर पारित कर दिया। ऐसे में पहली जुलाई से जीएसटी हिमाचल में भी लागू हो जाएगा। विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन हल्की चर्चा के बाद इस विधेयक पर दोनों पक्षों की सहमति मिलने के बाद पारित कर दिया गया। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि अब पूरे देश में एक ही तरह की कर प्रणाली लागू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इससे जनता को फायदा होगा। साल 2011 में भी जीएसटी को लोकसभा में लाया गया मगर सहमति न मिलने से यह पारित नहीं हो पाया था।

  • एक समान कर प्रणाली से जनता को लाभ मिलेगा : प्रो. धूमल

उधर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने जीएसटी को कर सुधार का लिए सबसे बड़ा कदम करार दिया। उन्होंने बताया कि जीएसटी के लागू होने से जनता पर अलग-अलग कर नहीं देने पड़ेंगे। एक समान कर प्रणाली से जनता को लाभ मिलेगा। अभी तक दुनिया भर के 150 देशों में सफलता पूर्वक काम कर रहा है इससे उन देशों में आर्थिक स्थिति सुधरी है। भारत में भाजपा सरकार ने जीएसटी पर सभी के सहयोग से सहमति बनाकर पारित कर दिया। जो कि 1 जुलाई से लागू हो जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *