ताज़ा समाचार

नवीन चावला ने किया छात्रों को वोट देने के लिए प्रेरित

  • चुनावों में छोटे पैमाने पर भी हेराफेरी संभव नहीं : चावला
  • चावला ने किया छात्रों से वोट देने और राष्ट्र की विकास प्रक्रिया का हिस्सा बनने का आग्रह
  • नवीन चावला जैसे व्यक्तित्व वाले इंसान से छात्रों में अवश्य ही चुनाव आयोग के बारे में मिला होगा बहुत कुछ सीखने को: उप कुलपति
चुनावों में छोटे पैमाने पर भी हेराफेरी संभव नहीं : चावला

चुनावों में छोटे पैमाने पर भी हेराफेरी संभव नहीं : चावला

शिमला: भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला ने शुक्रवार शाम सोलन स्थित शूलिनी विश्वविद्यालय में गुरु सीरीज़ लैक्चर को संबोधित किया। उन्होंने छात्रों और शूलिनी विवि के संकाय को चुनाव आयोग के संयोजन और कार्यविषय पर संबोधित किया। उन्होनें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में अपने कार्यकाल के अनुभव और सामने आई चुनौतियों के बारे में बताया।

इस अवसर पर चावला ने कहा कि काफ़ी सारी चुनौतियों के बावजूद, चुनाव आयोग में बिताया गया समय उनके लिए बहुत संतोषजनक था क्योंकि इस दौरान स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए भारत की छवि को अंतराष्ट्रीय स्तर पर मजबूती मिली। उन्होंने छात्रों से आग्रह किया की वह वोट दें और राष्ट्र की विकास प्रक्रिया का हिस्सा बनें।

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) हैकिंग की संभावना पर सवाल का जवाब देते हुए चावला ने कहा कि चुनावों में छोटे पैमाने पर भी हेराफेरी संभव नहीं है। कुछ विचारों की चुनाव आयोग पूरी तरह से स्वतंत्र नहीं था के जवाब देते हुए चावला ने कहा कि चुनाव आयोग पूरी तरह से स्वतंत्र है और दुनियाभर में इसकी प्रशंसा होती है।

उन्होनें वर्ष 2009 में चुनाव आयुक्त के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान की एक घटना का जिक्र किया जब चुनाव आयोग ने 10 राज्यों से करीब 100 मशीनों को एक साथ लाकर कैमरों के सामने यह दर्शाया था की इन मशीनों के साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है।

चावला ने किया छात्रों से वोट देने और राष्ट्र की विकास प्रक्रिया का हिस्सा बनने का आग्रह

चावला ने किया छात्रों से वोट देने और राष्ट्र की विकास प्रक्रिया का हिस्सा बनने का आग्रह

इस मौके पर चावला ने चुनाव के सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए सरकार और चुनाव कर्मचारियों के सामने आई चुनौतियों को उजागर किया। चावला ने जम्मू-कश्मीर और झारखंड से कई उदाहरण पेश किए,जहां चुनाव कर्मचारियों को मुश्किल हालात का सामना करना पड़ा था और कुछ मामलों में तो उनकी मृत्यु तक हो गई।

हिमाचल प्रदेश के लॉरेंस स्कूल सनावार से अपनी शिक्षा ग्रहण कर चुके चावला ने विद्यार्थियों को अपने बुनियादी मूल्य का पालन करने का सुझाव दिया। नवीन चावला ने 2009 और 2010 के बीच भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में कार्य किया। 2009 के सफल लोक सभा चुनाव उनकी अगुआई में करवाए गए।

इस अवसर पर शूलिनी विवि के उप कुलपति प्रोफेसर पी.के. खोसला ने कहा कि नवीन चावला जैसे व्यक्तित्व वाले इंसान से छात्रों में अवश्य ही चुनाव आयोग के बारे में बहुत कुछ सीखने का मौके मिला होगा। इस मौके पर विश्वविद्यालय के वरिष्ठ सदस्यों के अलावा, छात्र और संकाय मौजूद रहे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6  +  3  =