16 जून को सार्वजनिक अवकाश घोषित

राज्य चुनाव आयोग ने दिए मतदाता सूचियों में विशेष पुनरीक्षण के निर्देश

शिमला: राजनीतिक दलों, नगर निगम के महापौर व पार्षदों तथा लोगों से मतदाता सूचियों में त्रुटियों से संबंधित शिकायतों के दृष्टिगत राज्य चुनाव आयोग ने नगर निगम शिमला के निष्पक्ष व सुचारू चुनाव सुनिश्चित बनाने के लिए मतदाता सूचियों को दुरूस्त करने का निर्णय लिया है।

आयोग के एक प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि राज्य चुनाव आयोग के निर्देशानुसार चुनाव पंजीकरण अधिकारी एवं उपायुक्त शिमला ने 5 मई, 2017 को नगर निगम शिमला की मतदाता सूचियां तैयार करके इन्हें अधिसूचित किया था, जिसमें मतदाताओं की कुल संख्या 88,167 दर्शाई है, जबकि राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने 5 मई, 2017 को सूचित किया था कि उनके द्वारा नगर निगम क्षेत्र के लिए कुल 85,546 मतदाताओं को पंजीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि दोनों मतदाता सूचियां पहली जनवरी, 2017 एक ही अर्हता तिथि के संदर्भ में तैयारी की गई हैं। हालांकि 2200 आवेदन अभी भी पुनरीक्षण अधिकारियों के पास लम्बित हैं।

उन्होंने कहा कि मतदाता सूचियों का विशेष संशोधन 15 से 23 जून, 2017 तक किया जाएगा। अंतिम मतदाता सूचियों में पहले से ही पंजीकृत मतदाताओं का सत्यापन तथा पुनरीक्षण अधिकारी द्वारा प्राप्त दावों और आक्षेपों पर निर्णय 15 से 24 मई के बीच लिया जाएगा, जबकि मतदाता सूचियों में नाम दर्ज करवाने/कटवाने/शुद्धि का कार्य 25 से 29 मई, 2017 के बीच किया जाएगा।

ऐसे मतदाताओं को नोटिस सेवाओं की प्रक्रिया 30 मई से 3 जून के बीच पूरी की जाएगी और मामलों का निपटारा संशोधन अधिकारी द्वारा 5 से 12 जून, 2017 के बीच किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि असंतुष्ट मतदाताओं द्वारा अपील निर्वाचन पंजीकरण अधिकारी एवं उपायुक्त शिमला के पास पुनरीक्षण अधिकारी द्वारा पारित आदेशों के तीन दिनों के भीतर की जा सकती है। अपील फाईल करने के तीन दिनों के भीतर इसपर निर्णय लिया जाएगा। अनुपूरक सूची-दो तैयार करने तथा अंतिम रूप से प्रकाशित मतदाता सूचियों में शुद्धि करने का कार्य 23 जून, 2017 को किया जाएगा।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *