केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर 17 व 18 जनवरी को हमीरपुर में

अपनी नाकामियां छुपाने के लिए योजना आयोग का रोना न रोएं मुख्यमंत्री: अनुराग

नई दिल्ली :  सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि अपनी नाकामियां छुपाने के लिए मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह योजना आयोग बंद होने का रोना रो रहे हैं, जो तथ्यों से बिलकुल विपरीत है। केंद्र सरकार ने संघीय ढांचे को मजबूती देने के लिए 14 वें वित्त आयोग से राज्य को मिलने वाली राशी में 163% की बढ़ोतरी की है। 13 वें वित्त आयोग में राज्य को केवल 21,691 करोड़ रुपये मिले, जबकि 14 वें वित्त आयोग में यह राशि बढ़कर 75,282 करोड़ रुपये हिमाचल को मिले है।

सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश 14 वें वित्त आयोग से पांच साल में जो  75,282 करोड़ रुपये मिलेंगे उसमें राजस्व घाटे की पूर्ति के लिए 40,625 करोड़ रूपये की राशी केंद्र सरकार द्वारा दी जाएगी। इसके साथ ही केंद्रीय करों में राज्य के हिस्से के प्रति कुल 29,224 करोड़ रुपये मिलेंगे। पंचायतों के लिए करीब 1800 करोड़ रुपयों का प्रावधान किया गया है। आपदा प्रबंधन के लिए 1304 करोड़ रुपयों की राशी दी गयी है, सहायता अनुदान के रूप में हिमाचल को 2240 करोड़ रूपये मिलेंगे और न्यायपालिका के लिए करीब 100 करोड़ की राशी का प्रावधान किया गया है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि ऊपर दर्शायें गए आकड़ों से साफ है कि केंद्र से मिलने वाली मदद में कोई कमी नहीं आई है और केंद्र ने आज तक का सबसे ज्यादा प्रावधान 14 वें वित्त आयोग के मिलने वाली वित्तीय मदद में किया है। अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने अपने आय कि 42% रकम राज्यों को दी है जो इससे पहले 32% थी और एक बार में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी आजतक कभी नहीं हुई।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र सिंह लोगों को गुमराह करना बंद करे और राज्य के आर्थिक प्रबंधन पर ध्यान दे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आये दिन अपनी क्षमता से ज्यादा कर्ज लेकर राज्य को कर्ज के बोझ में दबा रही है और आनेवाले सरकार के लिए भी मुश्किल खड़ी कर रही है।

 

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *