जलूस, रैली, धरने के लिए चयनित क्षेत्र प्रतिबंधित

जिला प्रशासन शिमला की महत्वकांक्षी पहल ‘ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना’

शिमला: उपायुक्त शिमला रोहन चंद ठाकुर ने आज यहां बताया कि जिला प्रशासन शिमला द्वारा महत्वकांक्षी ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना आरंभ की गई है। ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना के तहत राजस्व विभाग के विभिन्न 14 प्रमाण-पत्रों का लाभ अब शिमला शहरी और ग्रामीण तहसील के नागरिक कहीं से भी इन्टरनेट के माध्यम से ऑनलाइन ले सकते हैं। इन प्रमाण-पत्रों में ग्रामीण क्षेत्र प्रमाण-पत्र, हिमाचली, कृषक, चरित्र, आय, वारसान (लीगल हियर), पिछड़ा वर्ग, जाति, अल्पसंख्यक, डोगरा क्लास, अन्य पिछड़ा वर्ग, स्वतन्त्रता सेनानी, अधिवासी (डोमिसाईल), दरिद्र प्रमाण-पत्र (इन्डिजेंट) शामिल है।

उपायुक्त ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर इस काम को सुचारू रूप से चलाने के लिए शिमला शहरी व ग्रामीण तहसील के सभी पटवार वृत को भी पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया गया है। नागरिक इन सेवाओं को प्राप्त करने के लिए कहीं से भी ऑनलाइन घर बैठे, निकटतम लोकमित्र केंद्र या सुगम सेंटर से बिना पटवारी की रिपोर्ट और लिखित आवेदन फॉर्म से कर सकता है। घर बैठे आवेदन करने के लिए सबसे पहले आवेदक को ई-डिस्ट्रिक्ट की वैबसाईट पर आनलाईन पंजीकरण करना होगा, उसके बाद आवेदक को उसके दिए गए पंजीकृत फोन नंबर और ई-मेल आई डी पर ई-डिस्ट्रिक्ट के यूजर आईडी तथा पासवर्ड प्राप्त होंगे। इनके द्वारा आवेदक वेबसाईट से कभी भी और किसी भी ई-डिस्ट्रिक्ट सेवा के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है।

इसी तरह राजस्व विभाग के 14 विभिन्न तरह के प्रमाण-पत्रों का लाभ लेने के लिए आवेदक को प्राप्त ई-डिस्ट्रिक्ट यूजर आईडी और पासवर्ड के साथ वेबसाईट पर लाॅगइन करके तथा उस सेवा का वेबसाईट पर फॉर्म भरने के बाद फीस डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से भुगतान करनी होगी। सफलतापूर्वक आवेदन करने के साथ ही ऑनलाइन आवेदन संबंधित तहसीलदार के अकांउट में चला जाएगा और इसके लिए पटवारी भी उस आवेदन पर ऑनलाइन ही रिपोर्ट करेगा, जैसे ही संबंधित तहसीलदार की तरफ से आवेदन को मंजूरी दी जाएगी, तो उसी समय आवेदक को उसके ई-मेल और मोबाइल पर यह सूचना प्राप्त हो जाएगी और आवेदक कभी भी अपने ई-डिस्ट्रिक्ट ऑनलाइन खाते से प्रमाण-पत्र की प्रतिलिपि को डाउनलोड करके प्रिंटआउट ले सकता है और उसका लाभ उठा सकता है। विभिाग की तरफ से जो भी कार्यवाही आवेदन पर की जाएगी, उसकी सारी जानकारी आवेदक को एसएमएस प्रणाली द्वारा प्राप्त होती रहेगी।

इससे नागरिकों को कहीं भी सरकारी ऑफिस में नहीं जाना पड़ेगा और समय की बचत भी होगी। इसके साथ ही यह सारे प्राप्त किए गए प्रमाण-पत्र उसके ई-डिस्ट्रिक्ट खाते में भविष्य के लिए भी सुरक्षित रहेंगे। किसी भी तरह की जानकारी के लिए नागरिक ई-डिस्टिक्ट के टोल फ्री हेल्पलाईन नंबर 1800 180 8076 या संबंधित जिला तकनीकी सहायता अभियंता और ई-डिस्टिक्ट मैनेजर शिमला के मोबाईल नंबर 94590-08324, 98165-42737 पर भी संपर्क कर सकते हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *