ताज़ा समाचार

सीएम ने किया धर्मशाला में मास्टर्ज एथेलेटिक्स मीट का शुभारम्भ

विभिन्न राज्यों से करीब दो हज़ार खिलाड़ी ले रहे हैं हिस्सा

चयनित विजेता फ्रांस के लियोन में लेंगे विश्व प्रतियोगिता में भाग

मुख्यमंत्री ने रखी फॉरेंसिक विभाग के आवासीय परिसर की आधारशिला

 

धर्मशाला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने धर्मशाला में 36वीं राष्ट्रीय मास्टर्ज एथेलेटिक्स प्रतियोगिता का शुभारम्भ किया। धर्मशाला के खेल परिसर में आयोजित हो रही इस प्रतियोगिता में 35 वर्ष से अधिक आयु के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताएं वरिष्ठ खिलाड़ियों को प्रसन्न एवं स्वस्थ रहने का अवसर प्रदान करती हैं। उन्होंने कहा कि यह उत्साहजनक है कि बहुत सारे वरिष्ठ खिलाड़ी इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं। उन्होंने प्रतियोगिता में भाग ले रहे सबसे वयोवृद्ध खिलाड़ी 93 वर्षीय रामचन्द्र रेड्डी, जो तेलंगाना राज्य से हैं, की प्रतियोगिता में प्रतिभागिता के लिए सराहना की और उन्हें बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन के लिए युवाओं की सकारात्मक ऊर्जा का समुचित दोहन तथा युवाओं को राष्ट्र की प्रगति एवं समृद्धि में योगदान के लिए प्रेरित करने के प्रति प्रतिबद्ध है ।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि खिलाड़ियों को और बेहतर खेल सुविधाएं मुहैया करवाने के अतिरिक्त प्रदेश सरकार अधिक खेल अधोसंरचना विकसित करने एवं अधिक सुविधाएं मुहैया करवाने और प्रदेश के विभिन्न भागों में स्पोर्टस होस्टल खोलने पर विचार कर रही है। मुख्मयंत्री ने राज्य मास्टर्ज एथेलेटिक्स एसोसियेशन को उनकी गतिविधियों के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए 10 लाख रुपये की धनराशि प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने धर्मशाला के खेल परिसर में साउंड पू्रफ हाल और शौचालयों के निर्माण के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।

वीरभद्र सिंह ने धर्मशाला के समीप ग्राम पंचायत कंड करदियाना में केन्द्रीय विश्वविद्यालय के स्थल का निरीक्षण किया और विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ब्रिगेडियर रांगड़ा से चर्चा की। इस चार दिवसीय एथेलेटिक्स मीट में विभिन्न राज्यों से महिला एवं पुरूष वर्ग में लगभग 2000 अनुभवी खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। प्रतियोगिता में हिमाचल प्रदेश के साथ-साथ मणिपुर, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, मध्यप्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, तमिलनाड़ू, पश्चिम बंगाल और केरल राज्यों के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।

कांगड़ा जिला मास्टर्ज एथेलेटिक्स के अध्यक्ष एवं विधायक संजय रतन ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी पग उठा रही है। उन्होंने राज्य के खिलाड़ियों की सुविधा एवं लाभ के लिए इस तरह के और सिंथैटिक ट्रैक के निर्माण की मांग की।

इस प्रतियोगिता के चयनित विजेता 4 से 16 अगस्त, 2015 तक फ्रांस के लियोन ने आयोजित होने वाली विश्व मास्टर्ज एथेलेटिक्स प्रतियोगिता में भाग लेंगे। टीम ने आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित पैन-पैसेफिक मास्टर्ज खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और सात स्वर्ण पदक जीते थे।

मास्टर्ज एथेलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सेवानिवृत्त कर्नल एस. शर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। तमिलनाड़ू राज्य से सम्बन्धित अन्तरराष्ट्रीय खिलाड़ी शांति मोल ने परेड का नेतृत्व किया। इसके पश्चात मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने धर्मशाला के सिद्धबाड़ी में 3.30 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले फॉरेंसिक विभाग के आवासीय परिसर की आधारशिला भी रखी। शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा, मुख्य संसदीय सचिव जगजीवन पाल, विधायक अजय महाजन, संजय रत्न, मनोहर धीमान, पवन काजल, हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष बलवीर तेगटा, कांगड़ा केन्द्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष जगदीश सिपहिया, हिमाचल प्रदेश राज्य वन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया, पूर्व विधायक बोध राज, महासचिव रामपाल शर्मा, खेल मनोचिकित्सक व अन्तर्राष्ट्रीय एथलीट कर्नल अरबिन्द झा, सीमा सुरक्षा बल डीआईजी (सेवानिवृत) सतनाम, राष्ट्रीय निकाय के सदस्य, उपायुक्त कांगड़ा सी.पाल रासू, पुलिस अधीक्षक कपिल शर्मा तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *