सीसीटीएनएस से जुड़ने वाली पहली पुलिस चौकी बनी संजौली

सीसीटीएनएस से जुड़ने वाली पहली पुलिस चौकी बनी संजौली

  • मुख्यमंत्री ने किया पुलिस चौकी को जोड़ने वाली सीसीटीएनएस प्रणाली का लोकार्पण

शिमला : शिमला की संजौली पुलिस चौकी अपराध एवं आपराधिक ट्रैकिंग नेटवर्क और प्रणाली (सीसीटीएनएस) से जुड़ने वाली देश की पहली पुलिस चौकी बन गई है। इससे मुख्यमंत्री द्वारा गत वर्ष बजट में की गई घोषणा पूरी हुई है। इस पुलिस पोस्ट के मापध्यम से लोगों को ऑनलाईन/ऑफलाईन शिकायतें  दर्ज करने, नौकरी के लिए पुलिस सत्यापन, किराएदारों का पंजीकरण, चरित्र सत्यापन तथा अप्रवासी मजदूरों के पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध होगी।

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज पुलिस चौकी को जोड़ने वाली इस सीसीटीएनएस प्रणाली का लोकार्पण किया। कुल्लू जिला की पुलिस चौकी मणिकर्ण, सोलन शहर की पुलिस चौकी तथा कांगड़ा जिला की डाडासीबा पुलिस चौकी को भी सीसीटीएनएस से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के दूरदराज क्षेत्र के लोगों विशेषकर बुजुर्गों, शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों व महिलाओं को इसके माध्यम से नजदीकी पुलिस चौकी में प्राथमिकी दर्ज करवाने में सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि भविष्य में प्रदेश की समस्त पुलिस चौकियों को सीसीटीएनएस प्रणाली से जोड़ा जाएगा।

पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि एक बार जब पुलिस चौकी सीसीटीएनएस सॉफ्टवेयर से जुड़ जाती है तो पुलिस के पर्यवेक्षी अधिकारी द्वारा दैनिक रोजनामचा/डायरी को ऑनलाईन देखा जा सकता है और स्टाफ की निगरानी आसानी से की जा सकती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में वर्ष 2015 में इस प्रणाली को शुरू करने के साथ ही पुलिस चौकियों को इस प्रणाली से जोड़ने वाला हिमाचल प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया था।

पुलिस महानिदेशक संजय कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस योजना के अन्तर्गत यह एक मिशन मोड परियोजना है, जिसकी परिकल्पना का मुख्य उद्देश्य लोगों तक तत्काल एवं पारदर्शी पहुंच बनाने के साथ-साथ पुलिस विभाग की कार्य क्षमता बढ़ाने तथा कानून व व्यवस्था में सुधार लाना है।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *