स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए महिलाओं को लड़का-लड़की में भेद न करते हुए दोनों को समान अवसर देने की परम्परा परिवार से शुरूआत करने की आवश्यकता : कुमद सिंह

लड़का-लड़की में भेद न करते हुए दोनों को समान अवसर देने की परम्परा परिवार से शुरू करने की आवश्यकता : कुमद सिंह

 शिमला: एक स्वस्थ समाज का निर्माण स्वस्थ परिवार से होता है और महिलाओं की इसमें सबसे बड़ी भूमिका है। स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए महिलाओं को लड़का-लड़की में भेद न करते हुए दोनों को समान अवसर देने की परम्परा परिवार से शुरूआत करने की आवश्यकता है।

यह जानकारी बोर्ड लिमिटेड की कार्यकारी निदेशक (कार्मिक) कुमद सिंह ने मुख्य अतिथि के तौर पर हिमाचल प्रदेश स्टेट इलैक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड मुख्यालय कुमार हाउस शिमला में आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बोर्ड द्वारा आयोजित एक समारोह में दी। उन्होंने कहा कि आर्थिक सम्पन्न्ता भी महिलाओं के लिए आवश्यक है, जिसे वे अपनी मेहनत और लग्न से पूरा कर सकती हैं। उन्होंने कहा आज भी सभी महिलाओं ने जो सम्मान व स्थान पाया है वह सब महिलाओं के संघर्ष का परिणाम है। उन्होंने महिलाओं को कार्य स्थल पर भी अपनी पूरी भूमिका निभाने का आहवाहन किया। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी का स्थान बहुत ऊंचा है। उन्होंने बोर्ड लिमिटेड में कार्यरत सभी महिला अधिकारियों व कर्मचारियों को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं भी प्रदान की। इस अवसर पर मुख्य अभियंता पी.टी.सी.एल. भारती सम्बयाल ने कहा कि महिलाओं को शोषित महिलाआंे की सहायता के लिए आगे आना चाहिए तभी महिला वर्ग का असल में उत्थान हो सकता है। कार्यक्रम में अपने विचार प्रस्तुत करते हुए तृप्ता शर्मा ने कहा कि महिलाओं के लिए आंतरिक और बाहरी पुरूषार्थ दोनों आवश्यक है। इस अवसर पर निशा दीक्षित द्वारा प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रम भी सराहनीय रहा। बोर्ड मुख्यालय परिसर की लगभग 200 महिला कर्मचारियों ने इस समारोह में भाग लिया।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *