हिमाचल: कांग्रेस के स्टार प्रचारक में 46 नेताओं के नामों की सूची, कई बॉलीवुड हस्तियों के नाम भी सूची में शामिल

शांता कुमार केवल अपने अस्तित्व को बनाए रखने व पार्टी के भीतर अपने खोए जनाधार को पुनः पाने के लिए कर रहे निराधार बयान : पठानिया व सुधीर शर्मा

 शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा

शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा

कृषि एवं ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया

कृषि एवं ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया

शिमला: कृषि एवं ऊर्जा मंत्री सुजान सिंह पठानिया तथा शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा द्वारा शिमला से जारी प्रेस वक्तव्य द्वारा कुछ समाचार पत्रों में प्रकाशित भाजपा नेता शांता कुमार के उस वक्तव्य पर हैरानी व्यक्त की है कि जिसमें उन्होंने राज्य

सरकार द्वारा धर्मशाला को प्रदेश की दूसरी राजधानी घोषित करने के निर्णय पर सवाल उठाए हैं। आज यहां जारी एक संयुक्त वक्तव्य में पठानिया तथा शर्मा ने कहा कि शांता कुमार जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता से उन्हें इस प्रकार के राजनीति से प्रेरित व आधारहीन बयान की उम्मीद नहीं थी। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता यह स्पष्ट करें कि वे राज्य सरकार द्वारा धर्मशाला को दूसरी राजधानी घोषित करने के निर्णय के पक्षधर हैं, या वे इसका विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि यह कांगड़ा जिला के मान-सम्मान की बात है और भाजपा के लोगों को अपना रूख स्पष्ट करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि शांता कुमार कांगड़ा जिला के विकास के पक्षधर होते तो प्रदेश के संतुलित व सर्वांगीण विकास तथा विशेष रूप से कांगड़ा जिले के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय की उन्हें सराहना करनी चाहिए थी।

जहां तक स्मार्ट सिटी धर्मशाला के लिए धन राशि प्रदान करने का मामला है, शांता कुमार इसे लेकर भी गलत आंकड़े पेश कर रहे हैं। वास्तविकता यह है कि स्मार्ट सिटी का प्रस्ताव तैयार करने के लिए केन्द्र सरकार से 3 करोड़ नहीं बल्कि 2 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे और इसमें राज्य सरकार की ओर से कोई धन राशि नहीं दी जानी थी। प्रदेश सरकार ने स्मार्ट सिटी का प्रस्ताव केन्द्र को सौंपा, जिसके आधार पर धर्मशाला को चुना गया और इस वर्ष के लिए केन्द्र से 186 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। प्रदेश सरकार ने भी अपना देय 10 प्रतिशत हिस्सा जारी कर दिया है। अतः शांता कुमार इस मामले में तथ्यों के विपरीत बयानबाजी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि धर्मशाला के दूसरी राजधानी घोषित से प्रदेश के चार जिलों के 30 विधानसभा क्षेत्रों के लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि इसका सबसे अधिक लाभ राज्य के दूरदराज जिला चम्बा होगा।

मंत्रियों ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि शांता कुमार केवल अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए और पार्टी के भीतर अपने खोए जनाधार को पुनः पाने के लिए इस तरह के निराधार बयान जारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में वर्तमान प्रदेश सरकार प्रदेश के हर क्षेत्र में समान विकास तथा हर वर्ग का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित बनाने के प्रति वचनबद्ध है और इसके लिए गत लगभग सवा चार वर्षों में अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिए गए हैं।

सम्बंधित समाचार

अपने सुझाव दें

Your email address will not be published. Required fields are marked *